Drama

Aayi Hai Ghata Jhum Ke (Gehra Raaz)

By  | 

Movie: Gehra Raaz
Release: 1971
Featuring Actors: Sujit Kumar, Sofia, Sheikh Mukhtar, Madhumati
Music Director:  Raj Ravinder
Lyrics:  Akhtar Romani
Singer: Krishna Kalle
Trivia:

Lyrics in Hindi

सकीय भी है महफ़िल भी है
मीना भी है हमदम
ले जाम उठा इसमें डूबा
दे तू सभी गम
क्या सोच रहा है
अरे दीवाने इधर आ
मिलता है नसीबों से
ज़माने में ये मौसम

आयी है घटा
आयी है घाटा झूम
के बल खाके पीयेंगे
आयी है घाटा झूम
के बल खाके पीयेंगे
लहरों की तरह लहार
में लहरके पीयेंगे
लहरके पीयेंगे
आयी है घटा
आयी है घाटा झूम
के बल खाके पीयेंगे
आयी है घाटा झूम
के बल खाके पीयेंगे

मस्ताना नजर बहके
कदम शाम गुलाबी
शाम गुलाबी
हर चीज़ पे मस्ती सी
है हर सैय है शराबी
हर सैय है शराबी
शीशे से सनम
शीशे से सनम शीशे
तो टकराके पीयेंगे
आयी है घटा
आयी है घाटा झूम
के बल खाके पीयेंगे
आयी है घाटा झूम
के बल खाके पीयेंगे

ये नाज़ ये अंदाज़
ये रंगीन जवानी
रंगीन जवानी
ढल जाएगी ये रात
युही बनके कहानी
बनके कहानी भर
जायेगा पैमाना
भर जायेगा पैमाना
चालकके पीयेंगे
आयी है घटा
आयी है घाटा झूम
के बल खाके पीयेंगे
आयी है घाटा झूम
के बल खाके पीयेंगे

कहदे कोई दुनिआ से की
हम प्यार के मरे
हम प्यार के मरे
रूठी हुई तक़दीर को
शीशे में उतरे
शीशे में उतरे उलझी हुई
उलझी हुई हर बात को
सुलझाके पीयेंगे
आयी है घटा
आयी है घाटा झूम
के बल खाके पीयेंगे
आयी है घाटा झूम
के बल खाके पीयेंगे
लहरों की तरह लहार
में लहरके पीयेंगे
लहरके पीयेंगे
आयी है घाटा झूम
के बल खाके पीयेंगे.


Lyrics in English

Saki bhi hai mahfil bhi hai
Meena bhi hai humdam
Le jam utha isme duba
De tu sabhi gum
Kya soch raha hai
Are deewane idhar aa
Milta hai nasibo se
Jamane me ye mausam

Aayi hai ghata
Aayi hai ghata jhum
Ke bal khake piyenge
Aayi hai ghata jhum
Ke bal khake piyenge
Lahro ki tarah lahar
Mein lahrake piyenge
Lahrake piyenge
Aayi hai ghata
Aayi hai ghata jhum
Ke bal khake piyenge
Aayi hai ghata jhum
Ke bal khake piyenge

Mastana najar bahke
Kadam sham gulabi
Sham gulabi
Har chiz pe masti si
Hai har say hai shrabi
Har say hai sharabi
Shishe se sanam
Shishe se sanam shishe
To takrake piyenge
Aayi hai ghata
Aayi hai ghata jhum
Ke bal khake piyenge
Aayi hai ghata jhum
Ke bal khake piyenge

Ye naz ye andaz
Ye rangin jawani
Rangin jawani
Dhal jayengi ye raat
Yuhi banke kahani
Banke kahani bhar
Jayega paymana
Bhar jayega paymana
Chalkake piyenge
Aayi hai ghata
Aayi hai ghata jhum
Ke bal khake piyenge
Aayi hai ghata jhum
Ke bal khake piyenge

Kahde koi dunia se ki
Hum pyar ke mare
Hum pyar ke mare
Ruthi hui takdir ko
Shishe mein utare
Shishe mein utare ulajhi hui
Ulajhi hui har baat ko
Suljhake piyenge
Aayi hai ghata
Aayi hai ghata jhum
Ke bal khake piyenge
Aayi hai ghata jhum
Ke bal khake piyenge
Lahro ki tarah lahar
Me lahrake piyenge
Lahrake piyenge
Aayi hai ghata jhum
Ke bal khake piyenge.

Leave a Reply