Romantic

Ab Kya Misaal Doon (Arti)

By  | 



Song Info

Movie/Album: Arti

Release: 1962

Music Director: Roshan

Lyrics Majrooh Sultanpuri

Singers: Mohammed Rafi

Lyrics in Hindi

अब क्या मिसाल दूँ मैं तुम्हारे शबाब की

इनसान बन गई है किरण माहताब की

अब क्या मिसाल दूँ   …


चेहरे में घुल गया है हसीं चाँदनी का नूर

आँखों में है चमन की जवाँ रात का सुरूर

गरदन है एक झुकी हुई डाली गुलाब की

अब क्या मिसाल दूँ   …


गेसू खुले तो शाम के दिल से धुआँ उठे

छूले कदम तो झुक के न फिर आस्माँ उठे

सौ बार झिलमिलाये शमा आफ़ताब की

अब क्या मिसाल दूँ   …


दीवार-ओ-दर का रंग, ये आँचल, ये पैरहन

घर का मेरे चिराग़ है बूटा स ये बदन

तसवीर हो तुम्हीं मेरे जन्नत के ख़्वाब की

अब क्या मिसाल दूँ   …

Song Trivia

Official Video

Other Renditions

No video file selected

Leave a Reply