Drama

Ab Mohabbat Mein Jo (Banarasi Thug)

By  | 

Song Info

Movie: Banarasi Thug
Release: 1962
Featuring Actors: Manoj Kumar, Vijaya Chaudhari
Music Directors: Iqbal Qureshi
Lyrics: Gulshan Bawra
Singers: Mohammed Rafi.
Trivia:

Lyrics in Hindi

हाय मर गए हम
तेरी मोहब्बत में हाय
अब मोहब्बत में जो
पहले थी वो तासिर नहीं
अब मोहब्बत में
पहले थी वो तासिर नहीं
अब वो सीरी नहीं लैला
नहीं वो हीर नहीं
अब वो सीरी नहीं अब
वो लैला नहीं
अब वो सीरी नहीं लैला
नहीं वो हीर नहीं
अब मोहब्बत में जो
पहले थी वो तासिर नहीं
अब वो सीरी नहीं लैला
नहीं वो हीर नहीं



साथ मरने की तड़प
अब कहा हसीनो में
यारो झूठी है चमक
हुसैन के नगीनो में
प्यार ढुलत से करते
है इन्हे प्यार नहीं
अब हमें इनकी
वफाओ का एतबार नहीं
अब वो सीरी नहीं
अब वो लैला नहीं
अब वो सीरी नहीं लैला
नहीं वो हीर नहीं
अब मोहब्बत में जो
पहले थी वो तासिर नहीं
अब वो सीरी नहीं लैला
नहीं वो हीर नहीं

न इन्हें प् से महब्बत
न इन्हें प् से वफ़ा
इन का पैसा है सितम
इन का सेवा है जवा
प्यार कहती है जिसे ये
दुनिया वो प्यार नहीं
किसको दिल देदे यहाँ
कोई भी दिलदार नहीं
अब वो सीरी नहीं अब
वो लैला नहीं
अब वो सीरी नहीं लैला
नहीं वो हीर नहीं
अब मोहब्बत में जो
पहले थी वो तासिर नहीं
अब वो सीरी नहीं लैला
नहीं वो हीर नहीं

ये हसी धोखे सनम
बनके जिया करते है
इश्क़ की खा के कसम
लूट लिया करते है
फिर भी कह ते हम से
की वेफ दर नहीं
फिर भी रोते है कोई
इन का भी दिलदार नहीं
अब वो सीरी नहीं
अब वो लैला नहीं
अब वो सीरी नहीं लैला
नहीं वो हीर नहीं
अब मोहब्बत में जो
पहले थी वो तासिर नहीं
अब वो सीरी नहीं लैला
नहीं वो हीर नहीं.

Lyrics in English

Haye mar gaye hum
Teri mohabbat me haye
Ab mohabbat me jo
Pahele thi wo tasir nahi
Ab mohabbat me
Pahele thi wo tasir nahi
Ab wo siri nahi laila
Nahi wo heer nahi
Ab wo siri nahi ab
Wo laila nahi
Ab wo siri nahi laila
Nahi wo heer nahi
Ab mohabbat me jo
Pahele thi wo tasir nahi
Ab wo siri nahi laila
Nahi wo heer nahi

Sath marne ki tadap
Ab kaha hasino me
Yaaro jhuthi hai chamak
Husan ke nagino me
Pyar dhulat se karte
Hai inhe pyar nahi
Ab hume inki
Wafao ka etbar nahi
Ab wo siri nahi
Ab wo laila nahi
Ab wo siri nahi laila
Nahi wo heer nahi
Ab mohabbat me jo
Pahele thi wo tasir nahi
Ab wo siri nahi laila
Nahi wo heer nahi

Na inhe pa se mahabbat
Na inhe pa se wafa
In ka pesa hai sitam
In ka seva hai jawa
Pyar kahti hai jise ye
Duniya wo pyar nahi
Kisko dil dede yaha
Koi bhi dildar nahi
Ab wo siri nahi ab
Wo laila nahi
Ab wo siri nahi laila
Nahi wo heer nahi
Ab mohabbat me jo
Pahele thi wo tasir nahi
Ab wo siri nahi laila
Nahi wo heer nahi

Ye hasi dhokhe sanam
Banke jiya karte hai
Ishq ki kha ke kasam
Lut liya karte hai
Fir bhi kah te hum se
Ki wefa dar nahi
Fir bhi rote hai koi
In ka bhi dildar nahi
Ab wo siri nahi
Ab wo laila nahi
Ab wo siri nahi laila
Nahi wo heer nahi
Ab mohabbat me jo
Pahele thi wo tasir nahi
Ab wo siri nahi laila
Nahi wo heer nahi.

Official Video

Other Video

No video file selected

Leave a Reply