Fifties(1950-59)

Ae Baad-E-Sabaa (Anarkali)

By  | 



Song Info

Movie/Album: Anarkali

Release: 1953

Music Director: C.Ramchandra

Lyrics Rajendra Krishna

Singers: Hemant Kumar

Lyrics in Hindi

ऐ बाद-ए-सबा आहिस्ता चल
यहाँ सोयी है अनारकलि
आँखों मे जलवे सलीम के लिये
खोयी हुई है अनारकलि

है शहीद-ए-इश्क़ का मख़बरा
ज़रा चल अदब से यहाँ हवा
तुझे याद हो के न याद हो
मुझे याद है उस का माझरा

अभी याद है मुझे वो घड़ी
जब किसी की उस पे नज़र पड़ी
यहाँ हुस्न था वहाँ ताज था
यहाँ इश्क़ था वहाँ राज था

ये कहा सलीम ने प्यार से
हँस हँस के अपनी अनार से
तू कहे तो तारों को तोड़ लूँ
तू कहे तो ताज भी छोड़ दूँ

ज़रा देख ले क्या हवा चली
न रहा सलीम न वो कलि
यह मज़ार निशानी है प्यार की
किसी दर्द भरी इख़रार की
किस भँवरे की इंतेज़ार मे
यहाँ सोयी है कलि अनार की

Song Trivia

Due to some reasons Music Director C.Ramchandra was not present during the making of this song.Hemant Kumar borrowed this tune from a bengali number sung by him in 1948.But C.Ramchandra is credited for the music of this song.The Bengali audio track is given below.

Official Video

Other Renditions

Avid music lover and Dev Anand fan

Leave a Reply