Romantic

Agar Mujhe Na (Kaajal)

By  | 



Song Info

Movie:Kaajal
Release: 1965
Featuring Actors: Meena Kumari, Raaj Kumar, Dharmendra
Music Director: Ravi
Lyrics:Sahir Ludhiyanvi
Singers: Mahendra Kapoor, Asha Bhonsle
Trivia:

Lyrics in Hindi

अगर मुझे न मिलीं तुम तो मैं ये समझूंगा
की दिल की राह से होकर ख़ुशी नहीं गुज़री
अगर मुझे न मिले तुम तो मैं ये समझूंगीं
की सिर्फ उम्र कटी ज़िन्दगी नहीं गुज़री

ग़ज़ल का हुस्न हो तुम, नज़्म का शबाब हो तुम
सदाये साज़ हो तुम,नगमा ए रुआब हो तुम
जो दिल में सुबहो जगाये वो आफताब हो तुम
वो आफताब हो तुम
अगर मुझे न मिलीं तुम तो मैं ये समझूंगा
मेरे जहाँ से कोई रौशनी नहीं गुज़री
अगर मुझे न मिले तुम तो मैं ये समझूंगीं
की सिर्फ उम्र कटी ज़िन्दगी नहीं गुज़री

फ़िज़ां में रंग नज़ारों में जान है तुमसे
मेरे लिए ये ज़मीं आस्मां है तुमसे
ख्यालों ख्वाब की दुनिया जवान है तुमसे
जवान है तुमसे
अगर मुझे न मिले तुम तो मैं ये समझूंगीं
की ख्वाब ख्वाब रहे बेकसी नहीं गुज़री
अगर मुझे न मिलीं तुम तो मैं ये समझूंगा
की दिल की राह से होकर ख़ुशी नहीं गुज़री

बड़े यकीन से मैंने ये हाथ माँगा है
हो मेरी वफ़ा ने हमेशा का साथ माँगा है
दिलों की प्यास ने आब ए हयात माँगा है
दिलों की प्यास ने आब ए हयात माँगा है
अगर मुझे न मिले तुम तो मैं ये समझूंगीं
की इंतज़ार की मुद्दत अभी नहीं गुज़री
अगर मुझे न मिलीं तुम तो मैं ये समझूंगा
अगर मुझे न मिले तुम तो मैं ये समझूंगीं
की सिर्फ उम्र कटी ज़िन्दगी नहीं गुज़री
हम्म्म्म हम्म्म्म —-

Lyrics in English

agar mujhe na mili tum to main ye samjhunga
ke dil ki raah se hokar khushi nahi gujari
agar mujhe na mile tum to main ye samjhungi
ke sirf umar kati jindagi nahi gujari

gazal ka husn ho tum, nazm ka shabaab ho tum
sadaye saaz ho tum, nagma e ruaab ho tum
jo dil mein subaho jagaye wo aaftaab ho tum
wo aaftaab ho tum
agar mujhe na mili tum to main ye samjhunga
mere jahan se koi roshni nahi gujri
agar mujhe na mile tum to main ye samjhungi
ke sirf umar kati jindagi nahi gujari

fiza me rang najaro me jaan hai tumse
mere liye ye jami aasman hai tumse
khyalo khwab ki duniya jawan hai tumse
jawan hai tumse
agar mujhe na mile tum to me ye samjhungi
ke khwab khwab rahe bekasi nahi gujari
agar mujhe na mili tum to me ye samjhunga
ke dil ki raah se hokar khushi nahi gujari

bade yakin se maine ye hath maanga hai
ho meri wafa ne hamesha ka sath maanga hai
dilo ki pyaas ne aab e hayat manga hai
dilo ki pyaas ne aab e hayat manga hai
agar mujhe na mile tum to main ye samjhungi
ki intezaar ki muddat abhi nahi guzri

agar mujhe na mili tum to main ye samjhunga
agar mujhe na mile tum to main ye samjhungi
ke sirf umar kati jidagi nahi gujari
hmmmmm hmmmm ———

Official Video

Other Video

No video file selected

Leave a Reply