Sixties(1960-69)

Apni Toh Har Aah Ek Toofan Hai (Kala Bazaar)

By  | 



Song Info

Movie/Album: Kala Bazaar

Release: 1960

Music Director: S.D.Burman

Lyrics Shailendra

Singers: Mohammed Rafi

Lyrics in Hindi

अपनी तो हर आह इक तूफ़ान है
क्या करें वो जानकर अनजान है
ऊपरवाला जानकर अनजान है
अपनी तो हर आह इक तूफ़ान है

अब तो हँसके अपनी भी क़िस्मत को चमका दे
कानों में कुछ कह दे जो इस दिल को बहला दे
ये भी मुश्किल है तो क्या आसान है
ऊपरवाला जानकर अनजान है
अपनी तो हर आह इक तूफ़ान है

सर पे मेरे तू जो अपना हाथ ही रख दे
फिर तो भटके राही को मिल जाएँगे रस्ते
दिल की बस्ती बिन तेरे वीरान है
ऊपरवाला जानकर अनजान है
अपनी तो हर आह इक तूफ़ान है

दिल ही तो है, इसने शायद भूल भी की है
ज़िंदगी है, भूलकर ही राह मिलती है
माफ़ कर बंदा भी इक इन्सान है
ऊपरवाला जानकर अनजान है
अपनी तो हर आह इक तूफ़ान है


Song Trivia

Official Video

Other Renditions

No video file selected

Avid music lover and Dev Anand fan

1 Comment

  1. hathraswallah

    May 2, 2015 at 11:07 pm

    Kala Bazar was a period movie with great music of Sachin Da

Leave a Reply