Drama

Bahut Mayus Ho Kar (Ghunghat)

By  | 

Movie: Ghunghat
Release: 1946
Featuring Actors: Leela Mishra
Music Director: Shankar Rao Vyas
Lyrics: Ramesh Gupta
Singer: Mohammed Rafi
Trivia:

Lyrics in Hindi

बहुत मायूस हो कर
कुचाये ऐ कातिल से हम निकले
इलाही अब ये मिन्नत है
दिल निकले या धाम निकले
दिल निकले या धाम निकले

करते है अब वो हमसे
मोहब्बत का बहाना
करते है अब वो हमसे
मोहब्बत का बहाना
मानो या न मानो
है ये मक्कार ज़माना
मानो या न मानो
है ये मक्कार ज़माना

नफरत भी नहीं हमसे
उल्फ़त भी नहीं है
नफरत भी नहीं हमसे
उल्फ़त भी नहीं है
हा कहने की न कहने की
फुर्सत भी नहीं है
हा कहने की न कहने की
फुर्सत भी नहीं है
दिन रात सुनते थे कभी
हमें दिल का तराना
हमें दिल का तराना
मानो या न मानो
है ये खुदगर्ज़ ज़माना
मानो या न मानो
है ये खुदगर्ज़ ज़माना

इकरार भी करते नहीं इंकार नहीं है
इकरार भी नहीं इंकार नहीं
इकरार भी करते नहीं इंकार नहीं है
अब बातों पे उनकी हमें
ऐतबार नहीं है
अब बातों पे उनकी हमें
ऐतबार नहीं है
आता है उन्हें खूब
अजी दिल जलना अजी दिल जलना
मानो या न मानो
है ये खुदगर्ज़ ज़माना
मानो या न मानो
है ये खुदगर्ज़ ज़माना
मक्कार ज़माना.


Lyrics in English

Bahut mayus ho kar
Kuchaye ae katil se ham nikle
Ilahi ab ye minnat  hai
Dil nikle ya dham nikle
Dil nikle ya dham nikle

Karte hai ab wo hamse
Mohabbat ka bahana
Karte hai ab wo hamse
Mohabbat ka bahana
Mano ya na mano
Hai ye makkar zamana
Mano ya na mano
Hai ye makkar zamana

Nafrat bhi nahi hamse
Ulfat bhi nahi hai
Nafrat bhi nahi hamse
Ulfat bhi nahi hai
Ha kehne ki na kehne ki
Fursat bhi nahi hai
Ha kehne ki na kehne ki
Fursat bhi nahi hai
Din raat sunate the kabhi
Hame dil ka tarana
Hame dil ka tarana
Mano ya na mano
Hai ye khudgarz zamana
Mano ya na mano
Hai ye khudgarz zamana

Ikrar bhi karte nahi inkar nahi hai
Ikrar bhi nahi inkar nahi
Ikrar bhi karte nahi inkar nahi hai
Ab bato pe unki hame
Aitbar nahi hai
Ab bato pe unki hame
Aitbar nahi hai
Aata hai unhe khub
Aji dil jalana aji dil jalana
Mano ya na mano
Hai ye khudgarz zamana
Mano ya na mano
Hai ye khudgarz zamana
Makkar zamana.

Leave a Reply