Drama

Band Mutthi Lakh Ki (Chalti Ka Naam Zindagi)

By  | 

Movie: Chalti Ka Naam Zindagi
Release: 1982
Featuring Actors: Rita Bhaduri, Master Bhagwan
Music Directors: Kishore Kumar
Lyrics: Irshad Kamil
Singers: Kishore Kumar, Mohammed Rafi, Manna Dey
Trivia:

Lyrics in Hindi

बंद मुट्ठी लाख की
खुली तो प्यारे ख़ाक की
बंद मुट्ठी लाख की
खुली तो प्यारे ख़ाक की
हा बंद मुट्ठी लाख की
खुली तो प्यारे ख़ाक की

मेहनत से तुम जी न चुराना
खून पसीना एक कर के दिखने
मेहनत से तुम जी न चुराना
खून पसीना एक कर के दिखने
ख्वाबो की खिचड़ी पकाना
करना है जो कर के बताना
अरे हल्दी मिर्ची मसाले उतने तीखे
जितने डेल
ओ प्यारे बात को पहले तू टोल लब पे
बाद में प्यार से तू झट से
बंद मुट्ठी लाख की
खुली तो प्यारे ख़ाक की
बंद मुट्ठी लाख की लाख की
खुली तो प्यारे ख़ाक की

सात सुरों की जीवन धारा
सा रे सा तक घर हा इसरा
सात सुरों की जीवन धारा
सा रे सा तक घर हा इसरा
साँस है जब तक संग है प्यारा
साँस रुके तो सब कुछ हरा
ओ जीने वाले बात समझ ले
जीवन का ये राज़ समझ ले
ओ बधु दूर के ढोल सुहान ेलगते
ओ बंधू पास बजे तो डरने लगते
बंद मुट्ठी लाख की
खुली तो प्यारे ख़ाक की
बंद मुट्ठी लाख की लाख की
खुली तो प्यारे ख़ाक की

चड़ता सागर बहता पानी
है ये जवानी आणि जनि
चड़ता सागर बहता पानी
है ये जवानी आणि जनि
मार ले गोटा कर तैराकी
मतलब लम्बा बात जरा सी
जितनी दुबे गहराई में उतनी जाये ऊंचाई पे
ओ ललए कुवे का मेंडक न बन
जहर भरा है तेरे मन में
बंद मुट्ठी लाख की
खुली तो प्यारे ख़ाक की
बंद मुट्ठी लाख की लाख की
खुली तो प्यारे ख़ाक की.


Lyrics in English

Bandh muthi lakh ki
Khuli to pyare khak ki
Bandh muthi lakh ki
Khuli to pyare khak ki
Ha bandh muthi lakh ki
Khuli to pyare khak ki

Mehnat se tum ji na churana
Khun pasina ek kar ke dikhna
Mehnat se tum ji na churana
Khun pasina ek kar ke dikhna
Khwabo ki khichdi pakana
Karna hai jo kar ke batana
Are haldi mirchi masale utne tikhe
Jitne dale
O pyare bat ko pahle tu tol lab pe
Bad me pyar se tu jhat se
Bandh muthi lakh ki
Khuli to pyare khak ki
Bandh muthi lakh ki lakh ki
Khuli to pyare khak ki

Sat suro ki jiwan dhara
Sa re sa tak gher ha isara
Sat suro ki jiwan dhara
Sa re sa tak gher ha isara
Sans hai jab tak sang hai pyara
Sans ruke to sab kuch hara
O jine wale bat samjh le
Jiwan ka ye raz samjh le
O badhu dur ke dhol suhan elagte
O bandhu pas baje to darane lagte
Bandh muthi lakh ki
Khuli to pyare khak ki
Bandh muthi lakh ki lakh ki
Khuli to pyare khak ki

Chadta sagar bahta pani
Hai ye jawani aani jani
Chadta sagar bahta pani
Hai ye jawani aani jani
Mar le gota kar tairaki
Matlab lamba bat jara si
Jitni dube gahrayi me utni jaye unchai pe
O lale kuwe ka mendak na ban
Jahar bhara hai tere man me
Bandh muthi lakh ki
Khuli to pyare khak ki
Bandh muthi lakh ki lakh ki
Khuli to pyare khak ki.

Leave a Reply