Fifties(1950-59)

Chal diye banda nawaz-Mr and Mrs 55

By  | 



Song Info

Movie/Album: Mr and Mrs 55

Release: 1955

Music Director: O.P.Nayyar
Lyrics Majrooh Sultanpuri
Singers: Geeta Dutt and Mohmmad Rafi

 

Lyrics in Hindi
चल दिए बंदा नॉवज़
छेड़ कर मेरे दिल का साज़
चल दिए बंदा नॉवज़
छेड़ कर मेरे दिल का साज़
हम तरसते ही रहे
जलवे बरसते ही रहे
सुनिए मिस्टर चालबाज़
बानिए ना बड़े तीर अंदाज़
सुनिए मिस्टर चालबाज़
बानिए ना बड़े तीर अंदाज़
ओर कोई घर देखिए
दिल को यहा मत फेकीएे
सुनिए मिस्टर चालबाज़
बानिए ना बड़े तीर अंदाज़

है मुझपे तू बनके दर्दे जिगर
दिल मे ख़टकते है तेरी नज़र
है मुझपे तू बनके दर्दे जिगर
दिल मे ख़टकते है तेरी नज़र
बस बस तुम्ही से सुने ऐसे नाज़
कर डाला उलफत का खाना खराब
बस बस तुम्ही से सुने ऐसे नाज़
कर डाला उलफत का खाना खराब
मान जा आए संगदिल
दिल से मिलले मेरा दिल
सुनिए मिस्टर चालबाज़
बानिए ना बड़े तीर अंदाज़
सुनिए मिस्टर चालबाज़
बानिए ना बड़े तीर अंदाज़
ओर कोई घर देखिए
दिल को यहा मत फेकीएे
सुनिए मिस्टर चालबाज़
बानिए ना बड़े तीर अंदाज़

दामन से खिछो ज़रा हाथ को
समझो ज़रा अपनी औकात को
दामन से खिछो ज़रा हाथ को
समझो ज़रा अपनी औकात को
ओकट मेरी ना पूछे हुज़ूर
हू आपका मुझको ये है गरूर

ओकट मेरी ना पूछे हुज़ूर
हू आपका मुझको ये है गरूर
यू ना रिश्ता जोड़िए
मेरा दामन छोड़िए
चल दिए बंदा नॉवज़
छेड़ कर मेरे दिल का साज़
चल दिए बंदा नॉवज़
छेड़ कर मेरे दिल का साज़
हम तरसते ही रहे
जलवे बरसते ही रहे
चल दिए बंदा नॉवज़
छेड़ कर मेरे दिल का साज़

माना के बिगड़े है मेरे नसीब
उलफत ना समझे अमीरो ग़रीब
माना के बिगड़े है मेरे नसीब
उलफत ना समझे अमीरो ग़रीब
छोड़ो ये उलफत की बारीकिया
राष्टा लो जंगल ना मजनू मिया
छोड़ो ये उलफत की बारीकिया
राष्टा लो जंगल ना मजनू मिया
छोड़ कर अब तेरा ये दर
जाए ये दीवाना ये किधर
सुनिए मिस्टर चालबाज़
बानिए ना बड़े तीर अंदाज़
सुनिए मिस्टर चालबाज़
बानिए ना बड़े तीर अंदाज़
ओर कोई घर देखिए
दिल को यहा मत फेकीएे
सुनिए मिस्टर चालबाज़
बानिए ना बड़े तीर अंदाज़
चल दिए बंदा नॉवज़
छेड़ कर मेरे दिल का साज़
चल दिए बंदा नॉवज़
छेड़ कर मेरे दिल का साज़
हम तरसते ही रहे
जलवे बरसते ही रहे
चल दिए बंदा नॉवज़
छेड़ कर मेरे दिल का साज़

Song Trivia

Official Video

No video file selected

Avid music lover and Dev Anand fan

Leave a Reply