Romantic

Chhadi Re Chhadi Kaisi (Mausam)

By  | 



Song Info

Movie/Album: Mausam

Release: 1975

Music Director: Madan Mohan

Lyrics Gulzar

Singers: Lata Mangeshkar and Mohammed Rafi

Lyrics in Hindi

छड़ी रे छड़ी कैसी, गले मे पड़ी
छड़ी रे छड़ी कैसी, गले मे पड़ी
पैरो की बेड़ी कभी, लगे हथकड़ी
छड़ी रे छड़ी कैसी, गले मे पड़ी
छड़ी रे छड़ी कैसी, गले मे पड़ी

सीधे-सीधे रास्तों को, तोड़ा सा मोड़ दे दो
सीधे-सीधे रास्तों को, तोड़ा सा मोड़ दे दो
बेजोड़ रूहो को, हल्का सा जोड़ दे दो
जोड़ दो ना टूट जाए, साँसों की लड़ी
जोड़ दो ना टूट जाए, साँसों की लड़ी
छड़ी रे छड़ी कैसी, गले मे पड़ी
छड़ी रे छड़ी कैसी, गले मे पड़ी

धीरे-धीरे चलना सपने, नींदों में डर जाते है
हो धीरे-धीरे चलना सपने, नींदों में डर जाते है
कहते है सपने कभी, जागे तो मर जाते है
नींद से ना जागे कोई, ख्वाबों की लड़ी
नींद से ना जागे कोई, ख्वाबों की लड़ी
छड़ी रे छड़ी कैसी, गले मे पड़ी
छड़ी रे छड़ी कैसी, गले मे पड़ी

लगता है सांसो मे, टूटा है काँच कोई
हो, लगता है सांसो मे, टूटा है काँच कोई
चुभती है सिने मे, भीनी सी आँच कोई
आँचल मे बाँध ली है, आग की लड़ी
आँचल मे बाँध ली है, आग की लड़ी
छड़ी रे छड़ी कैसी, गले मे पड़ी
छड़ी रे छड़ी कैसी, गले मे पड़ी


Song Trivia

Official Video

Other Renditions

No video file selected

Avid music lover and Dev Anand fan

Leave a Reply