Classical

Dhal Chuki Shaam-E-Gam (Kohinoor)

By  | 



Song Info

Movie/Album: Kohinoor

Release: 1960

Music Director: Naushad

Lyrics Shakeel Badayuni

Singers: Mohammed Rafi

Lyrics in Hindi

ढल चुकी शाम-ए-ग़म मुस्करा ले सनम
इक नई सुबह दुनिया में आने को है
प्यार सजने लगा साज बजने लगा
ज़िन्दगी दिल के तारों पे गाने को है
ढल चुकी शाम-ए-ग़म …

आज पायल भी है नग़्मा-ए-दिल भी है
रंग-ए-उल्फ़त बहारों में शामिल भी है
आ गई है मिलन की सुहानी घड़ी
वक़्त की ताल पे नाचती है ख़ुशी
घुँघरुओं की सदा रंग लाने को है
ढल चुकी शाम-ए-ग़म …

झूमते आ रहे हैं ज़माने नए
हसरतें गा रही हैं तराने नए
आज दिल की तमन्ना निकल जाएगी
गीत होगा वही लय बदल जाएगी
इक नया राग क़िस्मत सुनाने को है
ढल चुकी शाम-ए-ग़म …

Song Trivia

Official Video

Other Renditions

No video file selected

Avid music lover and Dev Anand fan

Leave a Reply