Drama

Dil Ka Fareb Jab Koi Gulnaar (Aashiana)

By  | 

Movie: Aashiana
Release:  1986
Featuring Actors: Mark Zuber, Deepti Naval
Music Directors: Jagjit Singh
Lyrics: Kulwant Jani, Madan Pal, Nandi Khanna
Singers: Mohammed Rafi
Trivia:

Lyrics in Hindi

दिल के सौदे में
फ़रिश्ते भी गुनेहगार बने
सेज के नाम पे जिनके लिए मज़ार बने

दिल का फरेब जब कोई गुलनार खा गयी
दिल का फरेब जब कोई गुलनार खा गयी
उस गुलबदन को वक़्त की दीवार खा गयी
उस गुलबदन को वक़्त की दीवार खा गयी
दिल का फरेब जब कोई गुलनार खा गयी

जो जान अपने यार को नज़राना लिख गयी
जो जान अपने यार को नज़राना लिख गयी
और खून से वफाओ का अफसाना लिख गयी
उल्फत की बाज़ी जीत के भी हार खा गयी
दिल का फरेब जब कोई गुलनार खा गयी
दिल का फरेब जब कोई गुलनार खा गयी

यूँ तो यह उस कनीज़ का मजार हैं ज़रूर
हैं दफ़न मगर इसमें शहंशाहो का गरूर
मुगलो का हर गरूर यह दीवार खा गयी
दीवार खा गयी.


Lyrics in English

Dil ke saude mein
Farishte bhi gunehgar bane
Sej ke naam pe jinke liye majaar bane

Dil ka fareb jab koi gulnaar kha gayi
Dil ka fareb jab koi gulnaar kha gayi
Us gulbadan ko waqt ki deewar kha gayi
Us gulbadan ko waqt ki deewar kha gayi
Dil ka fareb jab koi gulnaar kha gayi

Jo jaan apne yaar ko nazrana likh gayi
Jo jaan apne yaar ko nazrana likh gayi
Aur khoon se wafao ka afsana likh gayi
Ulfat ki baazi jeet ke bhi haar kha gayi
Dil ka fareb jab koi gulnaar kha gayi
Dil ka fareb jab koi gulnaar kha gayi

Yun to yeh us kaniz ka majaar hain zaroor
Hain dafan magar isme shahenshaho ka garur
Muglo ka har garur yeh deewar kha gayi
Deewar kha gayi.

Leave a Reply