Drama

Dil Ko Zara Sambhalo (Farz Aur Kanoon)

By  | 

Movie: Farz Aur Kanoon
Release: 1982
Featuring Actors: Jeetendra, Rati Agnihotri
Music Director: Laxmikant Pyarelal
Lyrics: Anand Bakshi
Singer: Asha Bhosle, Shabbir Kumar, Suresh Wadka
Trivia:

Lyrics in Hindi

दिल को ज़रा सम्भालो
ग़म न गले लगा लो
दिल को ज़रा सम्भालो
ग़म न गले लगा लो
तुम देख नहीं सकता मैं रोते हुए
तुम देख नहीं सकता मैं रोते हुए
दिल को ज़रा सम्भालो
ग़म न गले लगा लो

थोड़ा सा सिन्दूर लिया
जीवन भर का साथ दिया
इन हाथों में हाथ दिया
तेरे लिए क्या क्या न किया
मै तुमसे शर्मिंदा हो
अब तक क्यों मैं ज़िंदा हूँ
ज़िंदा हूँ शर्मिंदा हो
जिंदा हु शरमिंदा हु शरमिंदा हु

ये आंसू क्यों आये मेरे होते हुए
तुम देख नहीं सकती मैं रोते हुए
तुम देख नहीं सकती मैं रोते हुए
दिल को ज़रा सम्भालो
ग़म न गले लगा लो

पल भर चैन ना पाऊं मैं
अच्छा हो मर जाऊ मै
पल भर चैन ना पाऊं मैं
अच्छा हो मर जाऊ मै
कैसे उसे भूलौ मई जिसकी
याद सताए जागते सोते हुए
तुम देख नहीं सकता मैं रोते हुए
तुम देख नहीं सकता मैं रोते हुए
दिल को ज़रा सम्भालो
ग़म न गले लगा लो

इस घर से अंजान हु
मै तो एक बेगाने हो
इस घर से अंजान हु
मै तो एक बेगाने हो
कैसा मै दीवाना हु
कैसा मै दीवाना हु
तुम देख नहीं सकता मैं रोते हुए
तुम देख नहीं सकता मैं रोते हुए
दिल को ज़रा सम्भालो
ग़म न गले लगा लो
तुम देख नहीं सकता मैं रोते हुए
तुम देख नहीं सकता मैं रोते हुए.


Lyrics in English

Dil ko zara sambhalo
Gham na gale laga lo
Dil ko zara sambhalo
Gham na gale laga lo
Tum dekh nahi sakta mai rote huye
Tum dekh nahi sakta mai rote huye
Dil ko zara sambhalo
Gham na gale laga lo

Thoda sa sindur liya
Jivan bhar ka sath diya
In hatho me hath diya
Tere liye kya kaya na kiya
Mai tumse sharminda hu
Ab tak kyu mai zinda hu
Zinda hu sharminda hu
Zinda hu sharminda hu sharminda hu

Ye aansu kyu aaye mere hote huye
Tum dekh nahi sakti mai rote huye
Tum dekh nahi sakti mai rote huye
Dil ko zara sambhalo
Gham na gale laga lo

Pal bhar chain na paau mai
Achha ho mar jau mai
Pal bhar chain na paau mai
Achha ho mar jau mai
Kaise use bhulau mai jiski
Yaad sataye jagte sote huye
Tum dekh nahi sakta mai rote huye
Tum dekh nahi sakta mai rote huye
Dil ko zara sambhalo
Gham na gale laga lo

Is ghar se anjana hu
Mai to ek begana hu
Is ghar se anjana hu
Mai to ek begana hu
Kaisa mai deewana hu
Kaisa mai deewana hu
Tum dekh nahi sakta mai rote huye
Tum dekh nahi sakta mai rote huye
Dil ko zara sambhalo
Gham na gale laga lo
Tum dekh nahi sakta mai rote huye
Tum dekh nahi sakta mai rote huye.

Leave a Reply