Drama

Dil Ye Dil Bahaaron Se Mil (Ek Phool Char Kaante)

By  | 

Movie: Ek Phool Char Kaante
Release: 1960
Featuring Actors: Sunil Dutt, Waheeda Rehman
Music Director: Shankar Jaikishan
Lyrics: Shailendra
Singer: Lata Mangeshkar, Talat Mahmood
Trivia:

Lyrics in Hindi

दिल आई दिल बहारों से मिल, सितारों से आँखे मिला
यह समन यह रंगीन समन,यह मौसम भी हैं प्यार का
यही हैं मेरे तेरह कवाबों की दुनिया
यही हैं मेरे तेरह कवाबों की दुनिया
दिल आई दिल बहारों से मिल, सितारों से आँखे मिला
यह समन यह रंगीन समन,यह मौसम भी हैं प्यार का
यही हैं मेरे तेरह कवाबों की दुनिया
यही हैं मेरे तेरह कवाबों की दुनिया
दिल आई दिल बहारों से मिल, सितारों से आँखे मिला
यह समन यह रंगीन समन,यह मौसम भी हैं प्यार का

बहुत पास थी प्यार की मंज़िले, मगर रास्ता भूल जाते ध हम
अगर दिल की नज़रों से तुम देखते, खड़े समने मुस्कुराते ध हम
दिल आई दिल बहारों से मिल, सितारों से आँखे मिला
यह समन यह रंगीन समन,यह मौसम भी हैं प्यार का
यही हैं मेरे तेरह कवाबों की दुनिया
यही हैं मेरे तेरह कवाबों की दुनिया
दिल आई दिल बहारों से मिल, सितारों से आँखे मिला
यह समन यह रंगीन समन,यह मौसम भी हैं प्यार का
अचानक खयालों मे आकर मेरे, तुम्ही मेरे नींदे चुराते रहे
तुम्हे हम ने दिल मे बुलाया तोह था, मगर तुम ही दमन बचते रहे
दिल आई दिल बहारों से मिल, सितारों से आँखे मिला
यह समन यह रंगीन समन,यह मौसम भी हैं प्यार का
यही हैं मेरे तेरह कवाबों की दुनिया
यही हैं मेरे तेरह कवाबों की दुनिया
दिल आई दिल बहारों से मिल, सितारों से आँखे मिला
यह समन यह रंगीन समन,यह मौसम भी हैं प्यार का

मुहब्बत का यह गीत गेट हुये, हम इस रह मे आज खो जाएंगे
जमाना यह अब चाहें जो भी कहे, लिया जिसने दिल उसके हो जाएंगे
दिल आई दिल बहारों से मिल, सितारों से आँखे मिला
यह समन यह रंगीन समन,यह मौसम भी हैं प्यार का
यही हैं मेरे तेरह कवाबों की दुनिया
यही हैं मेरे तेरह कवाबों की दुनिया
दिल आई दिल बहारों से मिल, सितारों से आँखे मिला
यह समन यह रंगीन समन,यह मौसम भी हैं प्यार का.


Lyrics in English

Dil ai dil baharo se mil, sitaro se aankhe mila
Yeh saman yeh rangin saman,yeh mausam bhee hai pyar ka
Yahee hai mere tere kwabo kee duniya
Yahee hai mere tere kwabo kee duniya
Dil ai dil baharo se mil, sitaro se aankhe mila
Yeh saman yeh rangin saman,yeh mausam bhee hai pyar ka
Yahee hai mere tere kwabo kee duniya
Yahee hai mere tere kwabo kee duniya
Dil ai dil baharo se mil, sitaro se aankhe mila
Yeh saman yeh rangin saman,yeh mausam bhee hai pyar ka

Bahut pas thee pyar kee manjile, magar rasta bhul jate the ham
Agar dil kee najaro se tum dekhate, khade samane muskurate the ham
Dil ai dil baharo se mil, sitaro se aankhe mila
Yeh saman yeh rangin saman,yeh mausam bhee hai pyar ka
Yahee hai mere tere kwabo kee duniya
Yahee hai mere tere kwabo kee duniya
Dil ai dil baharo se mil, sitaro se aankhe mila
Yeh saman yeh rangin saman,yeh mausam bhee hai pyar ka

Achanak khayalo me aakar mere, tumhee meree ninde churate rahe
Tumhe ham ne dil me bulaya toh tha, magar tum hee daman bachate rahe
Dil ai dil baharo se mil, sitaro se aankhe mila
Yeh saman yeh rangin saman,yeh mausam bhee hai pyar ka
Yahee hai mere tere kwabo kee duniya
Yahee hai mere tere kwabo kee duniya
Dil ai dil baharo se mil, sitaro se aankhe mila
Yeh saman yeh rangin saman,yeh mausam bhee hai pyar ka

Muhbbat ka yeh git gate huye, ham iss rah me aaj kho jayenge
Jamana yeh abb chahe jo bhee kahe, liya jisne dil usake ho jayenge
Dil ai dil baharo se mil, sitaro se aankhe mila
Yeh saman yeh rangin saman,yeh mausam bhee hai pyar ka
Yahee hai mere tere kwabo kee duniya
Yahee hai mere tere kwabo kee duniya
Dil ai dil baharo se mil, sitaro se aankhe mila
Yeh saman yeh rangin saman,yeh mausam bhee hai pyar ka.

Leave a Reply