Drama

Ghar Ka Rasta Bhul Baitha (Ek Daku Saher Mein)

By  | 

Movie: Ek Daku Saher Mein
Release: 1985
Featuring Actors: Suresh Oberoi, Sarika, Amjad Khan
Music Director: Rajesh Roshan
Lyrics: Chander Oberoi, Rajesh Roshan, Majrooh Sultanpuri
Singer: Kishore Kumar
Trivia:

Lyrics in Hindi

भूल भुलैया शहर की गलियां
घर का रिश्ता भूल बैठा
भूल भुलैया शहर की गलियां
घर का रिश्ता भूल बैठा
आज ये कैसी भांग पिला दी
हाय सब कुछ मैं भूल बैठा
भूल भुलैया शहर की गलियां
घर का रिश्ता भूल बैठा
भूल भुलैया शहर की गलियां
घर का रिश्ता भूल बैठा

लाल चुनरिया माथे की बिंदिया
घर को आज ले जाऊ
झूमर पायल कंगन काजल
साथ में आज ले जाऊ
देख रही हैं
देख रही हैं राश्ता मेरा
हाय ये मैं कैसे भूल बैठा
भूल भुलैया शहर की गलियां
घर का रिश्ता भूल बैठा
भूल भुलैया शहर की गलियां
घर का रिश्ता भूल बैठा

बस में बैठो स्टेशन जाऊ
या पैदल ही निकल जाऊ
बेसब्री का हाल न पूछो
तुमको कैसे बतलाऊ
और कुछ देर में और कुछ देर में
और कुछ देर में होगा अँधेरा
हाय ये मैं कैसे भूल बैठा
भूल भुलैया शहर की गलियां
घर का रिश्ता भूल बैठा
भूल भुलैया शहर की गलियां
घर का रिश्ता भूल बैठा

ढल गया सूरज जल गयी बाती
लगता हैं जैसे हो दीवानी
डीप जलके अँगना बैठी होगी
मेरी घरवाली
आज मिलान की आज मिलान की
आज मिलान की हैं ये रुत सुहानी
हाय ये मैं कैसे भूल बैठा
भूल भुलैया शहर की गलियां
घर का रिश्ता भूल बैठा
भूल भुलैया शहर की गलियां
घर का रिश्ता भूल बैठा.


Lyrics in English

Bhul bhlayia sahar ki galiya
Ghar ka rashta bhul baitha
Bhul bhlayia sahar ki galiya
Ghar ka rashta bhul baitha
Aaj ye kaisi bhang pila di
Haye sab kuch main bhul baitha
Bhul bhlayia sahar ki galiya
Ghar ka rashta bhul baitha
Bhul bhlayia sahar ki galiya
Ghar ka rashta bhul baitha

Lal chunariya mathe ki bindiya
Ghar ko aaj le jau
Jhumar payal kangana kajal
Sath mein aaj le jau
Dekh rahi hain
Dekh rahi hain rashta mera
Haye ye main kaise bhul baitha
Bhul bhlayia sahar ki galiya
Ghar ka rashta bhul baitha
Bhul bhlayia sahar ki galiya
Ghar ka rashta bhul baitha

Bas mein baithu station jau
Ya paidal hi nikal jau
Besabri ka hal na pucho
Tumko kaise batlau
Or kuch der mein aur kuch der mein
Or kuch der mein hoga andhera
Haye ye main kaise bhul baitha
Bhul bhlayia sahar ki galiya
Ghar ka rashta bhul baitha
Bhul bhlayia sahar ki galiya
Ghar ka rashta bhul baitha

Dhal gaya sooraj jal gayi bati
Lagta hain jaisse ho diwani
Deep jalake angana bathi hogi
Meri gharwali
Aaj milan ki aaj milan ki
Aaj milan ki hain ye rut suhani
Haye ye main kaise bhul baitha
Bhul bhlayia sahar ki galiya
Ghar ka rashta bhul baitha
Bhul bhlayia sahar ki galiya
Ghar ka rashta bhul baitha.

Leave a Reply