Nineties(1990-99)

Ghar Se Nikalte Hi (Papa Kehte Hai)

By  | 

Song Info

Movie: Papa Kehte Hai
Release: 1996
Featuring Actors: Jugal Hansraj
Music Directors: Rajesh Roshan
Lyrics: Javed Akhtar
Singers: Udit Narayan
Trivia:

Lyrics in Hindi

घर से निकलते ही कुछ दूर चलते ही
रस्ते में है उसका घर
कल सुबह देखा तो बाल बनाती वो
खिड़की में आई नज़र
घर से निकलते ही कुछ दूर चलते ही
रस्ते में है उसका घर
कल सुबह देखा तो बाल बनाती वो
खिड़की में आई नज़र
घर से निकलते ही

मासूम चेहेरा नीची निगाहें
भोली सी लड़की भोली अदायें
ना अप्सरा है ना वो परी है
लेकिन ये उसकी जादूगरी है
दीवाना कर दे वो इक रंग भर दे वो
शर्मा के देखे जिधर
घर से निकलते ही कुछ दूर चलते ही
रस्ते में है उसका घर



करता हूँ उसके घर के मैं फेरे
हंसने लगे हैं अब दोस्त मेरे
सच केह रहा हूँ उसकी की कसम है
मैं फिर भी खुश हूँ बस एक ग़म है
जिससे प्यार करता हूँ मैं जिसपे मरता हूँ
उसको नहीं है खबर
घर से निकलते ही कुछ दूर चलते ही
रस्ते में है उसका घर

लड़की है जैसे कोई पहेली
कल जो मिली मुझको उसकी सहेली
मैंने कहा उसको जाके ये केहेना
अच्छा नहीं है यूँ दूर रेहना
कल शाम निकले वो घर से टहलने को
मिलना जो चाहे अगर
घर से निकलते ही कुछ दूर चलते ही
रस्ते में है उसका घर
कल सुबह देखा तो बाल बनाती वो
खिड़की में आई नज़र

Lyrics in English

Ghar se nikalate hi kuch door chalate hi
Raste mein hai uska ghar
Kal subah dekha to baal banaati vo
Khidaki mein aai nazar
Ghar se nikalate hi kuch door chalate hi
Raste mein hai uska ghar
Kal subah dekha to baal banaati vo
Khidaki mein aai nazar
Ghar se nikalate hi

Maasoom chehera nichi nigaahen
Bholi si ladaki bholi adaayen
Na apsara hai na vo pari hai
Lekin ye usaki jaadoogari hai
Divaana kar de vo ik rang bhar de vo
Sharma ke dekhe jidhar
Ghar se nikalate hi kuch door chalate hi
Raste mein hai uska ghar

Karata hoon usake ghar ke main phere
Hansane lage hain ab dost mere
Sach keh raha hoon usaki ki kasam hai
Main phir bhi khush hoon bas ek gam hai
Jisase pyaar karata hoon main jisape marata hoon
Usko nahin hai khabar
Ghar se nikalate himeine kuch door chalate hi
Raste mein hai uska ghar

Ladaki hai jaise koi paheli
Kal jo mili mujhako usaki saheli
Meine kaha usko jaake ye kehena
Achchha nahin hai yoon door rehana
Kal shaam nikale vo ghar se tahalane ko
Milana jo chaahe agar
Ghar se nikalate hi kuch door chalate hi
Raste mein hai uska ghar
Kal subah dekha to baal banaati vo
Khidaki mein aai nazar

Official Video

Other Video

No video file selected

Leave a Reply