Drama

Haal Kya Hai Dilon Ka (Anokhi Ada)

By  | 

Movie: Anokhi Ada
Release:  1973
Featuring Actors: Jeetendra, Rekha, Vinod Khanna
Music Directors: Laxmikant Pyarelal
Lyrics: Majrooh Sultanpuri.
Singers: Kishore Kumar
Trivia:

Lyrics in Hindi

हाल क्या है दिलों का न पूछो सनम
हाल क्या है दिलों का न पूछो सनम
आप का मुस्कुराना ग़ज़ब ढा गया
हाल क्या है दिलों का न पूछो सनम
आप का मुस्कुराना ग़ज़ब ढा गया
इक तो महफ़िल तुम्हारी हसी कम न थी
इक तो महफ़िल तुम्हारी हसी कम न थी
उस पे मेरा तराना ग़ज़ब ढा गया
इक तो महफ़िल तुम्हारी हसी कम न थी
उस पे मेरा तराना ग़ज़ब ढा गया
हल क्या है दिलों का न पूछो सनम

अब तो लहराया मस्ती भरी छांव में
अब तो लहराया मस्ती भरी छांव में
बांध दो चाहे घुँघरू मेरे पॉ में
बांध दो चाहे घुँघरू मेरे पॉ में
मई भक्त नहीं था मगर क्या करूँ
मई भक्त नहीं था मगर क्या करूँ
आज मौसम सुहाना ग़ज़ब ढा गया
मैं भक्त नहीं था मगर क्या करूँ
आज मौसम सुहाना ग़ज़ब ढा गया
हाल क्या है दिलों का न पूछो सनम

हर नज़र उठ रही है तुम्हारी तरफ
हर नज़र उठ रही है
नज़र उठ रही है
हर नज़र उठ रही है तुम्हारी तरफ
और तुम्हारी नज़र है हमारी तरफ
और तुम्हारी नज़र है हमारी तरफ
आँख उठाना तुम्हारा तो फिर ठीक था
आँख उठाना तुम्हारा तो फिर ठीक था
आँख उठाकर
आँख उठाना तुम्हारा तो फिर ठीक था
आँख उठाकर
हाल क्या है दिलों का न पूछो सनम

मस्त आँखों का जादू जो शामिल हुआ
मस्त आँखों का जादू
मस्त आँखों का जादू
मस्त आँखों का
मस्त आँखों का जादू जो शामिल हुआ
मेरा गाना भी सुनने के काबिल हुआ
मेरा गाना भी सुनने के काबिल हुआ
जिसको देखो वही आज बेहोश है
जिसको देखो वही आज बेहोश है
आज तो मै दीवाना ग़ज़ब ढा गया
जिसको देखो वही आज बेहोश है
आज तो मै दीवाना ग़ज़ब ढा गया
इक तो महफ़िल तुम्हारी हसी कम न थी
उस पे मेरा तराना ग़ज़ब ढा गया
हाल क्या है दिलों का न पूछो सनम.


Lyrics in English

Haal kya hai dilon ka na pucho sanam
Haal kya hai dilon ka na pucho sanam
Aap ka muskurana gazab dha gaya
Haal kya hai dilon ka na pucho sanam
Aap ka muskurana gazab dha gaya
Ik to mahafil tumhari hasi kam na thi
Ik to mahafil tumhari hasi kam na thi
Us pe mera tarana gazab dha gaya
Ik to mahafil tumhari hasi kam na thi
Us pe mera tarana gazab dha gaya
Hal kya hai dilo ka na pucho sanam

Ab to lahraya masti bhari chhaw me
Ab to lahraya masti bhari chhaw me
Bandh do chahe ghunghru mere paw me
Bandh do chahe ghunghru mere paw me
Mai bhakta nahi tha magar kya karu
Mai bhakta nahi tha magar kya karu
Aaj mausam suhana gazab dha gaya
Main bhakta nahi tha magar kya karu
Aaj mausam suhana gazab dha gaya
Haal kya hai dilon ka na pucho sanam

Har nazar uth rahi hai tumhari taraf
Har nazar uth rahi hai
Nazar uth rahi hai
Har nazar uth rahi hai tumhari taraf
Aur tumhari nazar hai hamari taraf
Aur tumhari nazar hai hamari taraf
Aankh uthana tumhara to phir thik tha
Aankh uthana tumhara to phir thik tha
Aankh uthakar, jhukana gazab dha gaya
Aankh uthana tumhara to phir thik tha
Aankh uthakar, jhukana gazab dha gaya
Haal kya hai dilon ka na pucho sanam

Mast aankho ka jadu jo shamil hua
Mast aankho ka jadu
Mast aankho ka jadu
Mast aankho ka
Mast aankho ka jadu jo shamil hua
Mera gana bhi sunne ke qabil hua
Mera gana bhi sunne ke qabil hua
Jisko dekho wahi aaj behosh hai
Jisko dekho wahi aaj behosh hai
Aaj to mai deewana gazab dha gaya
Jisko dekho wahi aaj behosh hai
Aaj to mai deewana gazab dha gaya
Ik to mahfil tumhari hasi kam na thi
Us pe mera tarana gazab dha gaya
Haal kya hai dilon ka na pucho sanam.

Leave a Reply