Drama

Haseen Ho Tum Khuda Nahi Ho (Budtameez)

By  | 

Movie: Budtameez
Release: 1966
Featuring Actors: Shammi Kapoor, Sadhana
Music Directors: Shankar Jaikishan
Lyrics: Shailendra
Singers: Mohammed Rafi
Trivia:

Lyrics in Hindi

हसीं हो तुम खुदा नहीं हो
तुम्हारा सिजदा नहीं करेंगे
मगर मुहब्बत में हुकम डोज तोह
हस्ते हस्ते यह जा भी देंगे
हसीं हो तुम खुदा नहीं हो
तुम्हारा सिजदा नहीं करेंगे
मगर मुहब्बत में हुकम डोज तोह
हस्ते हस्ते यह जा भी देंगे
हसीं हो तुम खुदा नहीं हो

समझते हो खुद को जाने क्या
तुम के सारी दुनिया को ख़ाक जाना
समझते हो खुद को जाने क्या
तुम के सारी दुनिया को ख़ाक जाना
गरुड़ का सिर झुकेगा इक दिन
हसेगा तुम पर भी यह ज़माना
हमेशा यह सीन नहीं रहेगा
हमेशा यह दिन नहीं रहेंगे
हसीं हो तुम खुदा नहीं हो

हमारी नजरो का शुक्र कीजिये की
आसमान पर तुम्हे बिठाया
हमारी नजरो का शुक्र कीजिये की
आसमान पर तुम्हे बिठाया
हमरे दिल को दुवाये दीजिए के
धड़कनों में तुम्हें बसाया
बुलंदियों से गिरोगे तुम भी
अगर निगाहों से हम गिरेंगे
हसीं हो तुम खुदा नहीं हो

हमारे जैसे अगर है लाखों
तुम्हारे जैसे भी कम नहीं है
हमारे जैसे अगर है लाखों
तुम्हारे जैसे भी कम नहीं है
जो खुद ही पत्थर से फोड़ ले सार
वोह और होंगे वह हम नहीं है
नहीं मुहब्बत में मर सके
भला वह जी कर ही क्या करेंगे
हसीं हो तुम खुदा नहीं हो
तुम्हारा सिजदा नहीं करेंगे
हसीं हो तुम खुदा नहीं हो.


Lyrics in English

Haseen ho tum khuda nahi ho
Tumhaara sijada nahi karenge
Magar muhabbat mein hukm doge toh
Hasate hasate yeh jaa bhi denge
Haseen ho tum khuda nahi ho
Tumhaara sijada nahi karenge
Magar muhabbat mein hukm doge toh
Hasate hasate yeh jaa bhi denge
Haseen ho tum khuda nahi ho

Samajhate ho khud ko jaane kya
Tum ke saari duniya ko khaak jaana
Samajhate ho khud ko jaane kya
Tum ke saari duniya ko khaak jaana
Gurur ka sar jhukega ik din
Hasega tum par bhi yeh jamaana
Hamesha yeh sin nahi rahega
Hamesha yeh din nahi rahenge
Haseen ho tum khuda nahi ho

Hamaari najaro ka shukr kijiye ki
Aasmaan par tumhe bithaaya
Hamaari najaro ka shukr kijiye ki
Aasmaan par tumhe bithaaya
Haamre dil ko duwaaye dijiye ke
Dhadkano mein tumhein basaaya
Bulandiyon se giroge tum bhi
Agar nigaaho se hum girenge
Haseen ho tum khuda nahi ho

Hamaare jaise agar hai laakhon
Tumhaare jaise bhi kam nahi hai
Hamaare jaise agar hai laakhon
Tumhaare jaise bhi kam nahi hai
Jo khud hi patthar se fod le sar
Woh aur honge woh hum nahi hai
Nahi muhabbat mein mar sake
Bhala woh ji kar hi kya karenge
Haseen ho tum khuda nahi ho
Tumhaara sijada nahi karenge
Haseen ho tum khuda nahi ho.

Leave a Reply