Drama

Hum Kyun Rote Hai Rato Ko (Darbaar)

By  | 

Song Info

Movie: Darbaar
Release: 1955
Featuring Actors: : Chitra, Mahipal, Niranjan Sharma
Music Directors: Hansraj Behl
Lyrics: Asad Bhopali
Singers: Geeta Dutt
Trivia:

Lyrics in Hindi

हम क्यों रोते है रातों को
हम क्यों रोते है रातों को
कोई क्या जाने इन बातों को
हम क्यों रोते है रातों को
चुप रह के हर एक गम
सहते है
तन्हाई में आंसू बहते है
चुप रह के हर एक गम
सहते है
तन्हाई में आंसू बहते है
क्यूँ बिन मोसम बरसातों को
हम क्यों रोते है रातों को

टूटा हुआ दिल बैचैन
नज़र दिन रात सुलगने
वाला जिगर
टूटा हुआ दिल बैचैन
नज़र दिन रात सुलगने
वाला जिगर
ऐ प्यार बता दे जाए किधर
हम है के तेरी सौगातो को
हम क्यों रोते है रातों को

दुःख दर्द सहे शिकवे
न किये हर रोज मारे
हर रोज जिए
दुःख दर्द सहे शिकवे
न किये हर रोज मारे
हर रोज जिए
हमने भी दुआ करने के
लिए सो बार उठाया हाथों को
हम क्यों रोते है रातों को.

Lyrics in English

Hum kyun rote hai rato ko
Hum kyun rote hai rato ko
Koi kya jane in bato ko
Hum kyun rote hai rato ko
Chup reh ke har ek gum
Sehte hai
Tanhai me aansu behte hai
Chup reh ke har ek gum
Sehte hai
Tanhai me aansu behte hai
kyun bin mosam barsato ko
Hum kyun rote hai rato ko

Tuta hua dil baichain
Nazar din rat sulagne
Wala jigar
Tuta hua dil baichain
Nazar din rat sulagne
Wala jigar
Ae pyar bata de jaye kidhar
Hum hai ke teri sogato ko
Hum kyo rote hai rato ko

Dukh dard sahe shikwe
Na kiye har roj mare
Har roj jiye
Dukh dard sahe shikwe
Na kiye har roj mare
Har roj jiye
Humne bhi dua karne ke
Liye so bar uthaya hatho ko
Hum kyun rote hai rato ko.

Official Video

Other Video

No video file selected

Leave a Reply