Emotional

Jab Ek Kazaa Se Guzro (Devta)

By  | 



Song Info

Movie/Album: Devta

Release: 1978

Featuring Actors: Shabana Azmi, Sanjeev Kumar

Music Director: R.D.Burman

Lyrics: Gulzar

Singers: Mohammed Rafi

 

Lyrics in Hindi

जब एक कज़ा से गुज़रो तो इक और कज़ा मिल जाती है
मरने की घड़ी मिलती है अगर जीने की रज़ा मिल जाती है
जब एक कज़ा से …

इस दर्द के बहते दरिया में हर ग़म है मरहम कोई नहीं
हर दर्द का ईसा मिलता है ईसा की मरियम कोई नहीं
साँसों की इजाज़त मिलती नहीं जीने कीसज़ामिल जाती है
जब एक कज़ा से …

मैं वक़्त का मुज़रिम हूँ लेकिन इस वक़्त ने क्या इंसाफ़ किया
जब तक जीते हो जलते रहो जल जाओ तो कहना माफ़ किया
जल जाए ज़रा सी चिंगारी तो और हवा मिल जाती है
जब एक कज़ा से …

कुछ ऐसे किस्मत वाले हैंके इनकी किस्मत होती नहीं

हंसना भी मना होता है इन्हेरोने की इजाज़त होती नहीं
बेनाम सा मौसम जीते हैंबेरंग फ़िज़ा मिल जाती हैं

जब एक कज़ा से …

 

Lyrics in English

jab ek kazaa se guzaro to ik aur kazaa mil jaatii hai
marane kii ghadi milatii hai agar jiine kii razaa mil jaatii hai
jab ek kazaa se …

is dard ke bahate dariyaa mein har Gam hai maraham koi nahin
har dard kaa iisaa milataa hai iisaa kii mariyam koi nahin
saanson kii ijaazat milatii nahin jiine kii sazaa mil jaatii hai
jab ek kazaa se …

main vaqt kaa muzarim hun lekin is vaqt ne kyaa i.nsaaf kiyaa
jab tak jiite ho jalate raho jal jaao to kahanaa maaf kiyaa
jal jaa_e zaraa sii chingaarii to aur havaa mil jaatii hai
jab ek kazaa se …

kuch aise kismat waale hain ke jinki kismat hoti nahin

hansna bhi manaa hota hai inhe rone ki ijazat hoti nahin

benaam sa mausam jeete hain berang fizaa mil jaati hai

jab ek kazaa se….

 

Official Video

No video file selected

Avid music lover and Dev Anand fan

Leave a Reply