Fifties(1950-59)

Kabhi Aar Kabhi Paar (Aar Paar)

By  | 



Song Info

Movie/Album: Aar Paar
Release: 1954
Music Director: O.P.Nayyar
Lyrics Majrooh Sultanpuri
Singers: Shamshad Begum

Lyrics in Hindi

कभी आर कभी पार लागा तीर-ए-नज़र

कभी आर कभी पार लागा तीर-ए-नज़र

सैंया घायल किया रे तूने मोरा जिगर

कितना संभाला बैरी,

दो नैनों में खो गया(2)

देखती रह गयी मैं तो,

जिया तेरा हो गया(2)

दर्द मिला ये जीवन भर का

मारा ऐसा तीर नज़र का(2)

लूटा चैन, क़रार

||कभी||

पहले मिलन में ये तो दुनियाँ की रीत है(2)

बात में गुस्सा लेकिन दिल ही दिल में प्रीत है(2)

मन ही मन में लड्डू फूटे

नैनों से फुलझड़ियाँ छूटे(2)

होंठों पर तक़रार

||कभी||

मर्ज़ी तिहारी चाहे मन में बसाओ जी (2)
प्यार से देखो चाहे, आँखों से गिराओ जी
दिल से दिल टकरा गये अब तो,

चोट जिगर पर खा गये अब तो (2)
अब तो हो गया प्यार

||कभी||

Song Trivia

Official Video

Other Renditions

No video file selected

Leave a Reply