Drama

Kadam Kadam Se Dil (Char Dil Char Raahein)

By  | 

Movie: Char Dil Char Raahein
Release: 1959
Featuring Actors: Raj Kapoor, Ajit, Shammi Kapoor
Music Directors: Anil Krishna Biswas
Lyrics: Sahir Ludhianvi
Singers: Mahendra Kapoor, Meena Kapoor, Mukesh, Manna Dey
Trivia:

Lyrics in Hindi

साथी रे साथी रे
साथी रे

कदम कदम से दिल से
दिल मिला रहे है हम
वतन में एक नया चमन
खिला रहे है हम

कदम कदम से दिल से
दिल मिला रहे है हम
वतन में एक नया चमन
खिला रहे है हम
कदम कदम से दिल से दिल

साथी रे भाई रे
हम आज नींव रख रहे है
उस निजाम की उस निजाम की

बाइक न ज़िन्दगी जहां
किसी गुलाम की किसी गुलाम की
लुटे न मेहनते
पिसे हुए आवाम की
न भर सके तिजोरियाँ
कोई हराम की साथी रे भाई रे

हर एक ऊँच नीच को
मिटा रहे है हम
कदम कदम से दिल से
दिल मिला रहे है हम
वतन में एक नया चमन
खिला रहे है हम
कदम कदम से दिल से दिल

साथी रे भाई रे
हमारे बाजुओं में
आँधियो का ज़ोर है
आँधियो का ज़ोर है

हमारी धडकनों में
बादलों का शोर है
बादलों का शोर है

हमारे हाथ में
वतन की बागडोर है
न बच के जा सकेंगे
जिनके दिल में चोर है
साथी रे भाई रे

सुनो की अपना फैसला
सुना रहे है हम
कदम कदम से दिल से
दिल मिला रहे है हम
वतन में एक नया चमन
खिला रहे है हम
कदम कदम से दिल से दिल

साथी रे भाई रे
उठा लिया है अब समाज
वाद का निशाँ
समाज वाद का निशाँ

अलग सलग न होगी अब
हमारी खेतियाँ
ये हमारी खेतियाँ

चलेगी सबके वास्ते
मिलो की चद्तीय
ज़मीन से आसमान
तलक उठेगी चिमनिया

साथी रे भाई रे
कहा था जो वो करके
अब दिखा रहे है हम

कदम कदम से दिल से
दिल मिला रहे है हम
वतन में एक नया चमन
खिला रहे है हम
कदम कदम से दिल से दिल

साथी रे भाई रे
उठे वो नौजवान
जिनको प्यार चाहिए
जिनको प्यार चाहिए

बढे वो दुल्हन
जिन्हे यार चाहिए
जिन्हे यार चाहिए

चले वो गुलसिता जिन्हें
निखार चाहिए
सुने वो बस्तिया जिन्हें
बहार चाहिए

साथी रे भाई रे
के जिंदगी को उसका हक़
दिला रहे है हम

कदम कदम से दिल से
दिल मिला रहे है हम
वतन में एक नया चमन
खिला रहे है हम
कदम कदम से दिल से दिल

साथी रे भाई रे
ये रास्ता सुनहरी
मंज़िलो को जायेगा
मंज़िलो को जायेगा

ये रास्ता कुशी की
बस्तिया बतायेगा
बस्तिया बतायेगा

बिछड़े गए थे जो
उन्हें करीब लाएगा
ये रास्ता है जो
दिल से दिल मिलायेगा

साथी रे भाई रे
के अब तमाम फैसले
मिटा रहे हे हम

कदम कदम से दिल से
दिल मिला रहे है हम
वतन में एक नया चमन
खिला रहे है हम
कदम कदम से दिल से दिल.


Lyrics in English

Saathi re saathi re
Saathi re

Kadam kadam se dil se
Dil milaa rahe hai ham
Vatan me ek naya chaman
Khilaa rahe hai ham

Kadam kadam se dil se
Dil milaa rahe hai ham
Vatan me ek naya chaman
Khilaa rahe hai ham
Kadam kadam se dil se dil

Saathi re bhaai re
Ham aaj niv rakh rahe hai
Us nijaam ki us nijaam ki

Bike na zindagi jahaan
Kisi gulaam ki kisi gulaam ki
Lute na mehanate
Pise hue aavaam ki
Na bhar sake tijoriyaan
Koi haraam ki saathi re bhaai re

Har ek unch nich ko
Mitaa rahe hai ham
Kadam kadam se dil se
Dil milaa rahe hai ham
Vatan me ek naya chaman
Khilaa rahe hai ham
Kadam kadam se dil se dil

Saathi re bhaai re
Hamaare baajuo me
Aandhiyo kaa zor hai
Aandhiyo kaa zor hai

Hamaari dhadakano me
Baadalo kaa shor hai
Baadalo kaa shor hai

Hamaare haath me
Vatan ki baagador hai
Na bach ke jaa sakege
Jinake dil me chor hai
Saathi re bhaai re

Suno ki apanaa faisalaa
Sunaa rahe hai ham
Kadam kadam se dil se
Dil milaa rahe hai ham
Vatan me ek naya chaman
Khilaa rahe hai ham
Kadam kadam se dil se dil

Saathi re bhaai re
Utha liya hai ab samaj
Vaad ka nishaan
Samaj vaad ka nishaan

Alag salag na hogi ab
Hamari khetiya
Ye hamari khetiya

Chalegi sabke vaste
Milo ki chadthiya
Zameen se aasman
Talak uthegi chimaniya

Saathi re bhaai re
Kaha tha jo wo karke
Ab dikha rahe hai hum

Kadam kadam se dil se
Dil milaa rahe hai ham
Vatan me ek naya chaman
Khilaa rahe hai ham
Kadam kadam se dil se dil

Saathi re bhaai re
Uthe vo naujavan
Jinko pyaar chahiye
Jinko pyaar chahiye

Badhe vo dulhane
Jinhe yaar chahiye
Jinhe yaar chahiye

Chale vo gulsita jinhe
Nikhar chahiye
Sune vo bastiyaa jinhe
Bahar chahiye

Saathi re bhaai re
Ke jindagi ko uska haq
Dila rahe hai hum

Kadam kadam se dil se
Dil milaa rahe hai ham
Vatan me ek naya chaman
Khilaa rahe hai ham
Kadam kadam se dil se dil

Saathi re bhaai re
Ye rasta sunahari
Manzilo ko jayega
Manzilo ko jayega

Ye rasta kushi ki
Bastiya batayega
Bastiya batayega

Bichhade gaye the jo
Unhe karib layega
Ye rasta hai jo
Dil se dil milayega

Saathi re bhaai re
Ke ab tamaam fasale
Mita rahe he hum

Kadam kadam se dil se
Dil milaa rahe hai ham
Vatan me ek naya chaman
Khilaa rahe hai ham
Kadam kadam se dil se dil.

Leave a Reply