Dance

Kuch Aur Behak Jau (Chambal Ki Kasam)

By  | 

Movie: Chambal Ki Kasam
Release: 1980
Featuring Actors: Raaj Kumar, Shatrughan Sinha, Moushumi Chatterjee
Music Directors: Mohammed Zahur Khayyam
Lyrics: Sahir Ludhianvi
Singers: Lata Mangeshkar
Trivia:

Lyrics in Hindi

कुछ और बेहक जाऊ
कुछ और बेहक जाऊ
तब मेरे करीब आने
खील जाऊ महाक जाऊ
खील जाऊ महाक जाऊ
तब मेरे करीब आने
कुछ और बेहक जाऊ

काम कम है अभी नशा
काम कम है अभी मस्ती
काम कम है अभी नशा
काम कम है अभी मस्ती
थोड़ी सी अभी पी
थोड़ी सी अभी पी है
थोड़ी सी अभी ली है
थोड़ी सी अभी ली है
हसरत अभी बाकि है
तू आज का साथी है
पिने दे पीलाने दे
कुछ रंग पियने दे
काम कम है काम
काम है अभी नशा
काम कम है अभी मस्ती
कुछ और बेहक जाऊ
कुछ और बेहक जाऊ
तब मेरे करीब आने
कुछ और बेहक जाऊ

मचले हुए इस दिल को
कुचौर मचलने दे
ऐसी जल्दी ऐसी जल्दी भी है
क्या गरम होने दे फ़िज़ा
रात ढलने दे ज़रा
शोक पालने दे ज़रा
डगमगाने दे कदम
तेज़ होने दे लगन
मचल मचल हुए इस दिल को
कुछ और मचलने दे
लेहरौ महाक जाऊ
लेहरौ महाक जाऊ
तब मेरे करीब आने
कुछ और बेहक जाऊ

रग रग में उतरने दे
जज्बात की गर्मी को
रग रग में उतरने दे
जज्बात की गर्मी को
दिल और धकड़ने दिल
और धकड़ने दे
आग और भड़कने दे तब
हुस्न सहवा होगा
आलम ही जुड़ा होगा तब
हुस्न सहवा होगा
आलम ही जुड़ा होगा
रग रग में उतरने दे
जज्बात की गर्मी को
शोला सी दाहक जाऊ
शोला सी दाहक जाऊ
तब मेरे करीब आने
कुछ और बेहक जाऊ
कुछ और बेहक जाऊ
कुछ और बेहक जाऊ
तब मेरे करीब आने
कुछ और बेहक जाऊ.


Lyrics in English

Kuch aur behak jau
Kuch aur behak jau
Tab mere karib aana
Khil jau mahak jau
Khil jau mahak jau
Tab mere karib aana
Kuch aur behak jau

Kam kam hai abhi nasha
Kam kam hai abhi masti
Kam kam hai abhi nasha
Kam kam hai abhi masti
Thodi si abhi pee
Thodi si abhi pee hai
Thodi si abhi li hai
Thodi si abhi li hai
Hasrat abhi baki hai
Tu aaj ka sathi hai
Pine de pilane de
Kuch rang piyane de
Kam kam hai kam
Kam hai abhi nasha
Kam kam hai abhi masti
Kuch aur behak jau
Kuch aur behak jau
Tab mere karib aana
Kuch aur behak jau

Machle huye is dil ko
Kuchaur machalne de
Aisi jaldi aisi jaldi bhi hai
Kya garam hone de fiza
Rat dhalne de zara
Shok palne de zara
Dagmgane de kadam
Taiz hone de lagan
Machle machle huye is dil ko
Kuch aur machalne de
Lehrau mahak jau
Lehrau mahak jau
Tab mere karib aana
Kuch aur behak jau

Rag rag me utarne de
Jajbaat ki garmi ko
Rag rag me utarne de
Jajbaat ki garmi ko
Dil aur dhakdne dil
Aur dhakdne de
Aag aur bhadkne de tab
Husn shwa hoga
Aalam hi juda hoga tab
Husn shwa hoga
Aalam hi juda hoga
Rag rag me utarne de
Jajbaat ki garmi ko
Shola si dahak jau
Shola si dahak jau
Tab mere karib aana
Kuch aur behak jau
Kuch aur behak jau
Kuch aur behak jau
Tab mere karib aana
Kuch aur behak jau.

Leave a Reply