Cabaret

Kya Ho Phir Jo Din (Nau Do Gyarah)

By  | 



Song Info

Movie/Album: Nau Do Gyarah

Release: 1957

Music Director: S.D.Burman

Lyrics Majrooh Sultanpuri

Singers: Asha Bhonsle and Geeta Dutt

Lyrics in Hindi

क्या हो फिर जो दिन रंगीला हो
रैत चमके समुन्दर नीला हो
और आकाश गीला गीला हो

क्या हो फिर जो दिन रंगीला हो
रस चमकी समुन.दर नीला हो
और आकाश गीला गीला हो

आहा फिर तो बड़ा मज़ा होगा
अम्बर झुका झुका होगा
सागर रुका रुका होगा
तूफ़ान छुपा छुपा होगा

हाँ फिर तो बड़ा मज़ा होगा
अम्बर झुका झुका होगा
सागर रुका रुका होगा
तूफ़ान छुपा छुपा होगा

क्या हो फिर जो चंचल घातें हो
होंठों पे मचलती बातें हो
सावन हो भरि बर्सातेइन होन

आहा फिर तो बड़ा मज़ा होगा
कोई कोई फिसल रहा होगा
कोई कोई सम्भल रहा होगा
कोई कोई मचल रहा होगा

हाँ फिर तो बड़ा मज़ा होगा
कोई कोई फिसल रहा होगा
कोई कोई सम्भल रहा होगा
कोई कोई मचल रहा होगा

क्या हो फिर जो दुनियाँ सोती हो
और तारों भरी खामोशी हो
हर आहट पे धड़कन होती हो

आहा फिर तो बड़ा मज़ा होगा
दिल दिल मिला मिला होगा
तन मन खिला खिला होगा
दुश्मन जला जला होगा

हाँ फिर तो बड़ा मज़ा होगा
दिल दिल मिला मिला होगा
तन मन खिला खिला होगा
दुश्मन जला जला होगा

Song Trivia

Official Video

Other Renditions

No video file selected

Avid music lover and Dev Anand fan

Leave a Reply