Drama

Laila Majnu (Geet)

By  | 

Movie: Geet
Release: 1970
Featuring Actors: Rajendra Kumar, Mala Sinha
Music Director: Kalyanji Anandji
Lyrics: Hasrat Jaipuri
Singers: Asha Bhosle, Mohammed Rafi
Trivia:

Lyrics in Hindi

तुझको मजनू की कसम सामने आजा लैला
आज तो आह की तासीर दिखा जा लैला
तूने सूरत न दिखाई तो ये सूरत होगी
लोग देखेंगे तमाशा तेरे दीवाने का
दीवाने का

हो दीवाने तेरी आग बड़ी काम आ गयी
लैला तड़प के आज लाबे बा आ गयी
न इतना सितम मुझपे दया करो
न इतना सितम मुझपे दया करो
ज़रा अपना
ज़रा अपना जलवा दिखाया करो
न इतना सितम मुझपे दया करो

मेरी मजबूरिया तुम ज़रा जान लो
मेरी मजबूरिया तुम ज़रा जान लो
अब ख्यालो में
अब ख्यालों में हम को बुलाया करो
मेरी मजबूरिया तुम ज़रा जान लो

जला जा रहा हु बचा लो मुझे
जला जा रहा हु बचा लो मुझे
मेरे दिल पे ज़ुल्फो का साया करो
न इतना सितम मुझपे दया करो

न तलवारो से डरते है
न अंगारो से डरते है
मोहब्बत करने वाले
कब सितम गरो से डरते है
हम तो हस्ते हुए उल्फ़त पे फ़िदा होते है
हम तो हस्ते हुए उल्फ़त पे फ़िदा होते है
अब मोहब्बत के
अब मोहबत के सनम ऐसे ऐडा होते है
हम तो हस्ते हुए उल्फ़त पे फ़िदा होते है

मोहब्बत मिट नहीं
सकती ज़माना क्या मिटायेगा
न सहो से झुकी उल्फ़त
न सहो से झुकी उल्फ़त
ज़माना क्या झुकायेगा
नोके तलवार पे भी
वादे वफ़ा होते है
मौत की गोद में
मौत की गोद में भी
सज्दे ऐडा होते है
हम तो हस्ते हुए.


Lyrics in English

Tujhko majnu ki kasam samne aaja laila
Aaj to aah ki tasir dikha ja laila
Tune surat na dikhai to ye surat hogi
Log dekhenge tamasha tere diwane ka
Diwane ka

Ho deewane teri aag badi kam aa gayi
Laila tadap ke aaj labe ba aa gayi
Na itna sitam mujhpe dhaya karo
Na itna sitam mujhpe dhaya karo
Zara apna
Zara apna jalwa dikhaya karo
Na itna sitam mujhpe dhaya karo

Meri majaburiya tum zara jan lo
Meri majaburiya tum zara jan lo
Ab khyalo mein
Ab khyalo mein hum ko bulaya karo
Meri majaburiya tum zara jan lo

Jala ja raha hu bacha lo mujhe
Jala ja raha hu bacha lo mujhe
Mere dil pe zulfo ka saya karo
Na itna sitam mujhpe dhaya karo

Na talwaro se darte hai
Na angaro se darte hai
Mohabbat karne wale
Kab sitam garo se darte hai
Hum to haste hue ulfat pe fida hote hai
Hum to haste hue ulfat pe fida hote hai
Ab mohabbat ke
Ab mohabat ke sanam aise ada hote hai
Hum to haste hue ulfat pe fida hote hai

Mohabbat mit nahi
Sakti zamana kya mitayega
Na saho se jhuki ulfat
Na saho se jhuki ulfat
Zamana kya jhukayega
Noke talwar pe bhi
Wade wafa hote hai
Maut ki god me
Maut ki god me bhi
Sajde ada hote hai
Ham to haste hue.

Leave a Reply