Drama

Main Tumhi Se Poochhti Hoon (Black Cat)

By  | 

Movie: Black Cat
Release: 1959
Featuring Actors: Balraj Sahni, Minu Mumtaz
Music Directors: Datta Naik
Lyrics: Jan Nisar Akhtar
Singers:  Lata Mangeshkar
Trivia:

Lyrics in Hindi

मैं तुम्हीं से पूछती हूँ
मुझे तुमसे प्यार क्यों है
कभी तुम दगा न दोगे
मुझे ऐतबार क्यों है
मैं तुम्हीं से पूछती हूँ
मुझे तुमसे प्यार क्यों है
कभी तुम दगा न दोगे
मुझे ऐतबार क्यों है
मैं तुम्हीं से पूछती हूँ

तुम से क्यों खफा रहती हूँ
ये जवा जवा फ़िज़ाए
तुमसे मिल गयी कहा से
ये हसी हसी अदाए
ये हसी हसी अदाए
मेरी ज़िन्दगी सिधायी
ये नै बहार क्यों है
मैं तुम्हीं से पूछती हूँ
मुझे तुमसे प्यार क्यों है
कभी तुम दगा न दोगे
मुझे ऐतबार क्यों है
मैं तुम्हीं से पूछती हूँ

जो कदम उठा रही हूँ
वो कदम बहक रहा है
मिली तुमसे क्या निगाहे
मेरा दिल धड़क रहा है
मेरा दिल धड़क रहा है
मेरे दिल पे हाथ रख दो
तुम्हे इंतज़ार क्यों है
मैं तुम्हीं से पूछती हूँ
मुझे तुमसे प्यार क्यों है
कभी तुम दगा न दोगे
मुझे ऐतबार क्यों है
मैं तुम्हीं से पूछती हूँ

तुम सामने हो मेरे
मैं जिधर नजर उठाऊ
तुम्हे भूलना भी चाहो
तो कभी न भूल पाओ
तो कभी न भूल पाओ

मेरे दिल पे हाय इतना
तुम्हे इख़्तियार क्यों हो
मैं तुम्हीं से पूछती हूँ
मुझे तुमसे प्यार क्यों है
कभी तुम दगा न दोगे
मुझे ऐतबार क्यों है
मैं तुम्हीं से पूछती हूँ.


Lyrics in English

Main tumhi se poochhti hoon
Mujhe tumse pyar kyu hai
Kabhi tum daga na doge
Mujhe aitbaar kyu hai
Main tumhi se poochhti hoon
Mujhe tumse pyar kyu hai
Kabhi tum daga na doge
Mujhe aitbaar kyu hai
Main tumhi se poochhti hoon

Tum se kyu khafa rahti hoon
Ye jawa jawa fizaye
Tumse mil gayi kaha se
Ye hasi hasi adaye
Ye hasi hasi adaye
Meri zindagi sidhayi
Ye nai bahar kyu hai
Main tumhi se poochhti hoon
Mujhe tumse pyar kyu hai
Kabhi tum daga na doge
Mujhe aitbaar kyu hai
Main tumhi se poochhti hoon

Jo kadam utha rahi hoon
Wo kadam bahek raha hai
Mili tumse kya nigahe
Mera dil dhadak raha hai
Mera dil dhadak raha hai
Mere dil pe hath rakh do
Tumhe intazar kyu hai
Main tumhi se poochhti hoon
Mujhe tumse pyar kyu hai
Kabhi tum daga na doge
Mujhe aitbaar kyu hai
Main tumhi se poochhti hoon

Tum samne ho mere
Main jidhar najar uthau
Tumhe bhulna bhi chahu
To kabhi na bhul pau
To kabhi na bhul pau

Mere dil pe haye itna
Tumhe ikhtiyar kyu hu
Main tumhi se poochhti hoon
Mujhe tumse pyar kyu hai
Kabhi tum daga na doge
Mujhe aitbaar kyu hai
Main tumhi se poochhti hoon.

Leave a Reply