Drama

Mastana Nigaho Ke Deewane (Garibi)

By  | 

Movie: Garibi
Release: 1949
Featuring Actors: Jairaj, Geeta Bali, Nirupa Roy
Music Director: Bulo C. Rani
Lyrics: Shewan Rizvi
Singer:  Shamshad Begum
Trivia:

Lyrics in Hindi

मस्ताना निगाहों के
दीवाने हज़ार है
मस्ताना निगाहों के
दीवाने हज़ार है
जलता नहीं कोई भी
परवाने हज़ारो है
जलता नहीं कोई भी
परवाने हज़ारो है

इस इश्क़ की दुनिया में
हमने तो यही सीखा
हमने तो यही सीखा
इस इश्क़ की दुनिया में
हमने तो यही सीखा
हमने तो यही सीखा
होशियार बहुत कम है
दीवाने हज़ारों हैं
होशियार बहुत कम है
दीवाने हज़ारों हैं
मस्ताना निगाहों के
दीवाने हज़ार है
जलता नहीं कोई भी
परवाने हज़ारो है
जलता नहीं कोई भी
परवाने हज़ारो है

न आग कभी देखि न
उठते धुंए देखा
न उठते धुंए देखा
न आग कभी देखि न
उठते धुंए देखा
न उठते धुंए देखा
दिल जलने के उल्फत में
अफ़साने हज़ारो है
दिल जलने के उल्फत में
अफ़साने हज़ारो है
मस्ताना निगाहों के
दीवाने हज़ार है
जलता नहीं कोई भी
परवाने हज़ारो है
जलता नहीं कोई भी
परवाने हज़ारो है

सब मरने को कहते है
कोई भी नहीं मरता
कोई भी नहीं मरता
सब मरने को कहते है
कोई भी नहीं मरता
कोई भी नहीं मरता
कहने को मोहब्बत के
दीवाने हज़ारों हैं
कहने को मोहब्बत के
दीवाने हज़ारों हैं
मस्ताना निगाहों के
दीवाने हज़ार है
जलता नहीं कोई भी
परवाने हज़ारो है
जलता नहीं कोई भी
परवाने हज़ारो है.


Lyrics in English

Mastana nigaho ke
Deewane hazar hai
Mastana nigaho ke
Deewane hazar hai
Jalta nahi koi bhi
Parwane hazaro hai
Jalta nahi koi bhi
Parwane hazaro hai

Is ishk ki duniya mein
Humne to yahi sikha
Humne to yahi sikha
Is ishk ki duniya mein
Humne to yahi sikha
Humne to yahi sikha
Hoshiyar bahut kam hai
Deewane hazaro hai
Hoshiyar bahut kam hai
Deewane hazaro hai
Mastana nigaho ke
Deewane hazar hai
Jalta nahi koi bhi
Parwane hazaro hai
Jalta nahi koi bhi
Parwane hazaro hai

Na aag kabhi dekhi na
Uthte dhua dekha
Na uthte dhua dekha
Na aag kabhi dekhi na
Uthte dhua dekha
Na uthte dhua dekha
Dil jalne ke ulfat mein
Afsane hazaro hai
Dil jalne ke ulfat mein
Afsane hazaro hai
Mastana nigaho ke
Deewane hazar hai
Jalta nahi koi bhi
Parwane hazaro hai
Jalta nahi koi bhi
Parwane hazaro hai

Sab marne ko kahte hai
Koi bhi nahi marta
Koi bhi nahi marta
Sab marne ko kahte hai
Koi bhi nahi marta
Koi bhi nahi marta
Kahne ko mohabbat ke
Deewane hazaro hai
Kahne ko mohabbat ke
Deewane hazaro hai
Mastana nigaho ke
Deewane hazar hai
Jalta nahi koi bhi
Parwane hazaro hai
Jalta nahi koi bhi
Parwane hazaro hai.

Leave a Reply