Drama

Mat Ja Mat Ja (Chhoti Si Mulaqat)

By  | 

Movie: Chhoti Si Mulaqat
Release: 1967
Featuring Actors: Vyjayanthimala, Uttam Kumar
Music Directors: Shankar Jaikishan
Lyrics: Shailendra
Singers: Asha Bhosle
Trivia:

Lyrics in Hindi

मत जा मत जा मत जा
मेरे बचपन नादाँ
बचपन ने कहा मुझसे
कुछ रोज़ के हम मेहमा
मत जा मत जा मत जा
मेरे बचपन नादाँ
बचपन ने कहा मुझसे
कुछ रोज़ के हम मेहमा

जब से रुत मतवाली आयी है मेरे आँगन
कहते है जैसे के नैना
रूठा रहता है मन
जब से रुत मतवाली आयी है मेरे आँगन
कहते है जैसे के नैना
रूठा रहता है मन
जब से रुत मतवाली आयी है मेरे आँगन
कहते है जैसे के नैना
रूठा रहता है मन
अपने रुठे मन को मई लेकर जो कहा
बचपन ने कहा मुझसे
कुछ रोज़ के हम मेहमा
मत जा मत जा मत जा
मेरे बचपन नादाँ
बचपन ने कहा मुझसे
कुछ रोज़ के हम मेहमा

कल रात चढ़ गयी निंदिया
और भोर तलक मैं जगी
ये कैसी मीठी अग्नि
जो मेरे तन में लगी
कल रात चढ़ गयी निंदिया
और भोर तलक मैं जगी
ये कैसी मीठी अग्नि
जो मेरे तन में लगी
करदे न मुझे पागल
मेरे नटखट अरमा
बचपन ने कहा मुझसे
कुछ रोज़ के हम मेहमा
मत जा मत जा मत जा
मेरे बचपन नादाँ
बचपन ने कहा मुझसे
कुछ रोज़ के हम मेहमा

क्यों लाज़ लगी है सबसे
क्यों सबसे छुपती फिरू
कोई भी नहीं है ऐसा
हल अपना जिससे कहु
क्यों लाज़ लगी है सबसे
क्यों सबसे छुपती फिरू
कोई भी नहीं है ऐसा
हल अपना जिससे कहु
नादानी मेरी देखो सबको समझू नाडा
बचपन ने कहा मुझसे
कुछ रोज़ के हम मेहमा
मत जा मत जा मत जा
मेरे बचपन नादाँ
बचपन ने कहा मुझसे
कुछ रोज़ के हम मेहमा
मत जा मत जा मत जा.


Lyrics in English

Mat ja mat ja mat ja
Mere bachpan nadan
Bachpan ne kaha mujhse
Kuchh roz ke hum mehmaa
Mat ja mat ja mat ja
Mere bachpan nadan
Bachpan ne kaha mujhse
Kuchh roz ke hum mehmaa

Jab se rut matwali ayi hai mere angan
Kahte hai jaise ke naina
Rutha rahta hai man
Jab se rut matwali ayi hai mere angan
Kahte hai jaise ke naina
Rutha rahta hai man
Jab se rut matwali ayi hai mere angan
Kahte hai jaise ke naina
Rutha rahta hai man
Apne ruthe man ko mai lekar jau kaha
Bachpan ne kaha mujhse
Kuchh roz ke hum mehmaa
Mat ja mat ja mat ja
Mere bachpan nadan
Bachpan ne kaha mujhse
Kuchh roz ke hum mehmaa

Kal rat chad gayi nindiya
Or bhor talak mai jagi
Ye kaisi mithi agni
Jo mere tan me lagi
Kal rat chad gayi nindiya
Or bhor talak mai jagi
Ye kaisi mithi agni
Jo mere tan me lagi
Karde na muje pagal
Mere natkhat armaa
Bachpan ne kaha mujhse
Kuchh roz ke hum mehmaa
Mat ja mat ja mat ja
Mere bachpan nadan
Bachpan ne kaha mujhse
Kuchh roz ke hum mehmaa

Kyu laz lagi hai sabse
Kyu sabse chupti phiru
Koi bhi nahi hai aisa
Hal apna jisse kahu
Kyu laz lagi hai sabse
Kyu sabse chupti phiru
Koi bhi nahi hai aisa
Hal apna jisse kahu
Nadani meri dekho sabko samjhu nadaa
Bachpan ne kaha mujhse
Kuchh roz ke hum mehmaa
Mat ja mat ja mat ja
Mere bachpan nadan
Bachpan ne kaha mujhse
Kuch roz ke hum mehmaa
Mat ja mat ja mat ja.

Leave a Reply