Dance

Mere Saiyyan Ne Bulaya (Dil Ka Heera)

By  | 

Movie: Dil Ka Heera
Release: 1979
Featuring Actors: Dharmendra, Hema Malini
Music Director: Laxmikant Pyarelal
Lyrics: Anand Bakshi
Singers:  Lata Mangeshkar
Trivia:

Lyrics in Hindi

मेरे सैय्यन ने बुलाया सिंगापुर
सिंगापुर सिंगापुर से
मैं दौड़ी दौड़ी आयी जयपुर से
मैं दौड़ी दौड़ी आयी जयपुर से
मेरे सैय्यन ने ओ
मेरे सैय्यन राजा ने
बुलाया सिंगापुर
सिंगापुर सिंगापुर से
मैं दौड़ी दौड़ी आयी जयपुर से
मैं दौड़ी भागी आयी जयपुर से

छोड़ गया था वो बेदर्दी
धोखा देके प्यार में
छोड़ गया था वो बेदर्दी
धोखा देके प्यार में
खिड़की थी दिवार में
बैठी थी मै घर में
खिड़की खोले इंतज़ार में
डाक बाबू चिठ्ठी लाया
हो बाबू चिठ्ठी लाया
लाया सिंगापुर से
मैं दौड़ी दौड़ी आयी जयपुर से
मणि दौड़ी भागी आयी जयपुर से

ऐसी कोई बात लिखी थी
चीलमीने सन्देश में
बंजारन के भेष में
पंख बिना मई उड़द के आयी
परदेशी के देश में
परदेशी के देश में
ये हवा का झोंका आया
हवा का झोंका आया आया सिंगापुर से
मैं दौड़ी दौड़ी आयी जयपुर से
मैं दौड़ी भागी आयी जयपुर से

ओ बाबू तुम भी यहाँ
अरे इधर क्या देखैत हो
उधर देखो उधर
कोई पता न कोई निशानी
लिखा बस एक नाम था
कैसा एक पैगाम था
फिर भी मैंने ढूंढ निकाला
बहुत जरुरी काम था
बहुत जरुरी काम था
जयपुर में जो खोया
था जो खोया था
वो मिला सिंगापुर से
मैं दौड़ी दौड़ी आयी जयपुर से
मैं दौड़ी भागी आयी जयपुर से
मेरे सैया ने बुलाया सिंगापुर
सिंगापुर सिंगापुर से
मैं दौड़ी दौड़ी आयी जयपुर से
मैं दौड़ी भागी आयी जयपुर से.


Lyrics in English

Mere saiyyan ne bulaya singapore
Singapore singapore se
Main daudi daudi aayi jaipur se
Main daudi daudi aayi jaipur se
Mere saiyyan ne o
Mere saiyyan raja ne
Bulaya singapore
Singapore singapore se
Main daudi daudi aayi jaipur se
Main daudi bhagi aayi jaipur se

Chhod gaya tha wo bedardi
Dhokha deke pyar mein
Chhod gaya tha wo bedardi
Dhokha deke pyar mein
Khidki thi diwar mein
Bathi thi mai ghar mein
Khidki khole intzar mein
Dak babu chithi laya
Ho babu chithi laya
Laya singapore se
Mai daudi daudi aayi jaipur se
Mani daudi bhagi aayi jaipur se

Aisi koi bat likhi thi
Chilmine sandesh me
Banjaran ke bhesh mein
Pankh bina mai udd ke aayi
Pardeshi ke desh mein
Pardeshi ke desh mein
Ye hawa ka jhoka aaya
Hawa ka jhoka aaya aaya singapore se
Main daudi daudi aayi jaipur se
Main daudi bhagi aayi jaipur se

O babu tum bhi yaha
Are idhar kya dekhat ho
Udhar dekho udhar
Koi pata na koi nishani
Likha bas ek nam tha
Kaisa ek paigam tha
Fir bhi maine dhund nikala
Bahut jaruri kam tha
Bahut jaruri kam tha
Jaipur mein jo khoya
Tha jo khoya tha
Wo mila singapore se
Main daudi daudi aayi jaipur se
Main daudi bhagi aayi jaipur se
Mere saiya ne bulaya singapore
Singapore singapore se
Main daudi daudi aayi jaipur se
Main daudi bhagi aayi jaipur se.

Leave a Reply