Fifties(1950-59)

Meri duniya lut rahi-Mr and Mrs 55

By  | 



Song Info

Movie/Album: Mr and Mrs 55

Release: 1955

Music Director: O.P.Nayyar
Lyrics Majrooh Sultanpuri
Singers: Mohmmad Rafi and chorus

 

Lyrics in Hindi
एयेए
मेरी दुनिया लूट रही थी
और मैं खामोश था
मेरी दुनिया लूट रही थी
और मैं खामोश था
टुकड़े टुकड़े दिल के चुनता
टुकड़े टुकड़े हन हन
टुकड़े टुकड़े दिल के चुनता
किस को इतना होश था
मेरी दुनिया लूट रही थी
और मैं खामोश था
मेरी दुनिया लूट रही थी
और मैं खामोश था

एयेए
आँख में आँसू ना थे
और जल रहा था दिल जिगर
रो रही तीन हसरतें
चुप-छाप था मैं बेख़बर
अर्रे
कैसे आता
हाय
कैसे आता होश में
जो पहले ही बेहोश था
कैसे आता होश में
जो पहले ही बेहोश था
टुकड़े टुकड़े दिल के चुनता
टुकड़े टुकड़े हन जी
टुकड़े टुकड़े दिल के चुनता
किस को इतना होश था
मेरी दुनिया लूट रही थी
और मैं खामोश था
मेरी दुनिया लूट रही थी
और मैं खामोश था

एयेए
ये हक़ीक़त है
इसे समझे ना अफ़साना कोई
एयेए
ये हक़ीक़त है
इसे समझे ना अफ़साना कोई
जब लूटा कूचे में इसे
जाके दिलवाला कोई
अजी ये ज़मीन
ये ज़मीन चुप-छाप थी
और आसमान खामोश था
ये ज़मीन चुप-छाप थी
और आसमान खामोश था
टुकड़े टुकड़े दिल के चुनता
टुकड़े टुकड़े हन हन
टुकड़े टुकड़े दिल के चुनता
किस को इतना होश था
मेरी दुनिया लूट रही थी
और मैं खामोश था
मेरी दुनिया लूट रही थी
और मैं खामोश था

एयेए
कारवाँ
कारवाँ दिल का लूटा बैठा हूँ
मंज़िल के क़रीब
मैं ने खुद कश्ती डुबो दी
जाके साहिल के क़रीब
क्या मैं करता
क्या मैं करता
मैं शराबे इश्क़ से मदहोश था
क्या मैं करता
मैं शराबे इश्क़ से मदहोश था
टुकड़े टुकड़े दिल के चुनता
टुकड़े टुकड़े हन हन
टुकड़े टुकड़े दिल के चुनता
किस को इतना होश था
मेरी दुनिया लूट रही थी
और मैं खामोश था
मेरी दुनिया लूट रही थी
और मैं खामोश था
मेरी दुनिया लूट रही थी

Song Trivia

The song is picturized on the actor named Rashid Khan who was said to be a lucky charm for Devanand in all his early hits.

Official Video

No video file selected

Avid music lover and Dev Anand fan

Leave a Reply