Drama

Mujhe Maar Daalo (Geeta Mera Naam)

By  | 

Movie: Geeta Mera Naam
Release: 1974
Featuring Actors: Sadhana, Sunil Dutt, Feroz Khan
Music Director: Laxmikant Pyarelal
Lyrics: Rajendra Krishan
Singer: Asha Bhosle
Trivia:

Lyrics in Hindi

हा मुझे मार डालो मैं मर जाउंगी
मरते मरते ये साबित कर जाउंगी
के ज़िन्दगी भी मौत है मौत भी है ज़िन्दगी
ज़िन्दगी भी मौत है मौत भी है ज़िन्दगी
मुझे मार डालो मैं मर जाउंगी
मरते मरते ये साबित कर जाउंगी
के ज़िन्दगी भी मौत है मौत भी है ज़िन्दगी
ज़िन्दगी भी मौत है मौत भी है ज़िन्दगी

तुफानो से मुझे आता है खेलना
मेरे लिए खेल है जुल्मो का झेलना
तुफानो से मुझे आता है खेलना
मेरे लिए खेल है जुल्मो का झेलना
जुल्मो से जुल्म करो जुल्म सहूंगी
फिर भी कहूँगी
के ज़िन्दगी भी मौत है मौत भी है ज़िन्दगी
ज़िन्दगी भी मौत है मौत भी है ज़िन्दगी

निखरा हुआ है कैसा आज रंग झूमता
ऐसे में क्यों न ए मजा इंतकाम का
निखरा हुआ है कैसा आज रंग झूमता
ऐसे में क्यों न ए मजा इंतकाम का
गोर बदन ऐसे जो खून बहेगा
बहके कहेगा की
के ज़िन्दगी भी मौत है मौत भी है ज़िन्दगी
ज़िन्दगी भी मौत है मौत भी है ज़िन्दगी

जितना सितम करो उतना ही कम है
जीने की ख़ुशी है न मरने का गम है
जितना सितम करो उतना ही कम है
जीने की ख़ुशी है न मरने का गम है
कातिल जुबान से चुप रहेगा
लहू तो कहेगा
के ज़िन्दगी भी मौत है मौत भी है ज़िन्दगी
ज़िन्दगी भी मौत है मौत भी है ज़िन्दगी
ज़िन्दगी भी मौत है मौत भी है ज़िन्दगी

मुझे मार डालो मैं मर जाउंगी
मरते मरते ये साबित कर जाउंगी
के ज़िन्दगी भी मौत है मौत भी है ज़िन्दगी
ज़िन्दगी भी मौत है मौत भी है ज़िन्दगी
ज़िन्दगी भी मौत है मौत भी है ज़िन्दगी.


Lyrics in English

Ha mujhe mar dalo mai mar jaungi
Marte marte ye sabit kar jaungi
Ke zindagi bhi maut hai maut bhi hai zindagi
Zindagi bhi maut hai maut bhi hai zindagi
Mujhe mar dalo mai mar jaungi
Marte marte ye sabit kar jaungi
Ke zindagi bhi maut hai maut bhi hai zindagi
Zindagi bhi maut hai maut bhi hai zindagi

Tufano se mujhe aata hai khelna
Mere liye khel hai julmo ka jhelna
Tufano se mujhe aata hai khelna
Mere liye khel hai julmo ka jhelna
Julmo se julm karo julm sahungi
Phir bhi kahungi
Ke zindagi bhi maut hai maut bhi hai zindagi
Zindagi bhi maut hai maut bhi hai zindagi

Nikhra hua hai kaisa aaj rang jhumta
Aise mein kyu na aye maja intkam ka
Nikhra hua hai kaisa aaj rang jhumta
Aise mein kyu na aye maja intkam ka
Gore badan ase jo khun bahega
Bahke kahega ki
Ke zindagi bhi maut hai maut bhi hai zindagi
Zindagi bhi maut hai maut bhi hai zindagi

Jitna sitam karo utna hi kam hai
Jeene ki khushi hai na marne ka gum hai
Jitna sitam karo utna hi kam hai
Jeene ki khushi hai na marne ka gum hai
Katil juban se chup rahega
Lahu to kahega
Ke zindagi bhi maut hai maut bhi hai zindagi
Zindagi bhi maut hai maut bhi hai zindagi
Zindagi bhi maut hai maut bhi hai zindagi

Mujhe mar dalo mai mar jaungi
Marte marte ye sabit kar jaungi
Ke zindagi bhi maut hai maut bhi hai zindagi
Zindagi bhi maut hai maut bhi hai zindagi
Zindagi bhi maut hai maut bhi hai zindagi.

Leave a Reply