Drama

Mujhe Pine Ka Shauk Nahi (Coolie)

By  | 

Movie: Coolie
Release: 1983
Featuring Actors: Amitabh Bachchan, Waheeda Rehman
Music Directors: Laxmikant Pyarelal
Lyrics: Anand Bakshi
Singers: Alka Yagnik, Shabbir Kumar.
Trivia:

Lyrics in Hindi

मुझे पीने का शौक नहीं
पीता हूँ ग़म भुलाने को
मुझे पीने का शौक नहीं
पीता हूँ ग़म भुलाने को
तेरी यादें मिटने को
तेरी यादें मिटने को
पीता हूँ ग़म भुलाने को
मुझे पीने का शौक नहीं
पीता हूँ ग़म भुलाने को
तेरी यादें मिटने को
तेरी यादें मिटने को
पीता हूँ ग़म भुलाने को
मुझे पीने का शौक नहीं
पीता हूँ ग़म भुलाने को

लाखों हजारों में
एक तू ना नज़र आयी
लाखों हजारों में
एक तू ना नज़र आयी
तेरा कोई खत आया
ना कोई खबर आयी
क्या तूने भुला डाला
क्या तूने भुला डाला
अपने इस दीवाने को
मुझे पीने का शौक नहीं
पीता हूँ ग़म भुलाने को

खोयी वह किताबें दिल जिस दिल का है यह किस्सा
खोयी वह किताबें दिल जिस दिल का है यह किस्सा
एक हिस्सा है पास मेरे तेरे पास है एक हिस्सा
मई पूरा करूँ कैसे इस दिल के फ़साने को
मुझे पीने का शौक नहीं
पीता हूँ ग़म भुलाने को

मिल जाते अगर अब्ब हम
आग लग जाती पानी में
मिल जाते अगर अब्ब हम
आग लग जाती पानी में
बचपन से वही
दोस्ती हो जाती जवानी में
चाहत में बदल देते
चाहत में बदल देते
हम इस दोस्ताने को
मुझे पीने का शौक नहीं
पीता हूँ ग़म भुलाने को
मुझे पीने का शौक नहीं
पीता हूँ ग़म भुलाने को.


Lyrics in English

Mujhe peene kaa shauk nahee,
Peeta hoon gham bhulane ko
Mujhe peene kaa shauk nahee,
Peeta hoon gham bhulane ko
Teree yade mitane ko
Teree yade mitane ko
Peeta hoon gham bhulane ko
Mujhe peene kaa shauk nahee,
Peeta hoon gham bhulane ko
Teree yade mitane ko
Teree yade mitane ko
Peeta hoon gham bhulane ko
Mujhe peene kaa shauk nahee,
Peeta hoon gham bhulane ko

Laakhon hazaron mein
Ek too naa nazar aayee
Laakhon hazaron mein
Ek too naa nazar aayee
Teraa koyee khat aaya
Naa koyee khabar aayee
Kya tune bhula dala
Kya tune bhula dala
Apne iss deewane ko
Mujhe peene kaa shauk nahee,
Peeta hoon gham bhulane ko

Khoyee woh kitabe dil jis dil kaa hai yeh kissa
Khoyee woh kitabe dil jis dil kaa hai yeh kissa
Ek hissa hai pas mere tere pas hai ek hissa
Mai pura karu kaise iss dil key fasane ko
Mujhe peene kaa shauk nahee,
Peeta hoon gham bhulane ko

Mil jate agar abb ham
Aag lag jatee panee mein
Mil jate agar abb ham
Aag lag jatee panee mein
Bachpan see wahee
Dostee ho jatee javanee mein
Chahat mein badal dete
Chahat mein badal dete
Ham iss dostaane ko
Mujhe peene kaa shauk nahee,
Peeta hoon gham bhulane ko
Mujhe peene kaa shauk nahee
Peeta hoon gham bhulane ko.

Leave a Reply