Drama

Na Toh Din Hi Din Woh Rahe (Dard-E-Dil)

By  | 

Movie: Dard-E-Dil
Release: 1953
Featuring Actors: Premnath, Nimmi
Music Directors: Rai Chand Boral
Lyrics: D. N. Madhok
Singers Lata Mangeshkar
Trivia:

Lyrics in Hindi

न तोह दिन ही दिन वह रहे मेरे
न वह रात रात मेरी रही
किसे शौक ज़िन्दगी का है
अब मेरी सेज बेसुर ही सही
न तोह दिन ही दिन वह रहे मेरे

न तोह चाँद पेह वह निखर
है न वह चांदनी में बहार है
न वह जोष पसी इ इश्क़ में
न वह जिस्म ही में तड़प रही
न तोह दिन ही दिन वह रहे मेरे

न है इंतज़ार मुझे कोई
झूठे ज़िन्दगी के फरेब से
न किसी की याद से वास्ता
न किसी के दिल में है कल रही
किसे शौक ज़िन्दगी का है अब


Lyrics in English

Na toh din hi din woh rahe mere
Na woh raat raat meri rahi
Kise shauk zindagi ka hai
Ab meri saj besur hi sahi
Na toh din hi din woh rahe mere

Na toh chand peh woh nikhar
Hai na woh chandani me bahar hai
Na woh josh pasie e ishq me
Na woh jism hi me tadap rahi
Na toh din hi din woh rahe mere

Na hai intzar mujhe koi
Jhuthe zindagi ke fareb se
Na kisi ki yaad se wasta
Na kisi ke dil me hai kal rahi
Kise shauk zindagi ka hai ab

Leave a Reply