Drama

Nigaahon Ko Jab (For Ladies Only)

By  | 

Movie: For Ladies Only
Release: 1951
Featuring Actors: Kuldip Kaur, Rupa Verman, Kamal Mehra
Music Director: Vinod
Lyrics: Prakash
Singers: Sulochana Kadam
Trivia:

Lyrics in Hindi

हम्म हम्म हम्म हम्म
निगाहों को जब आ गया मुस्कुराना
निगाहों को जब आ गया मुस्कुराना
मुझे देखता रह गया इक ज़माना
निगाहों को जब आ गया मुस्कुराना

है पंछी मेरे गीत गाने लगे
है पंछी मेरे गीत गाने लगे
नए ढंग से चहचहाने लगे
नए दांग से चहचाने लगे
मेरी ज़िन्दगी है सुबह का तराना
निगाहों को
निगाहों को जब आ गया मुस्कुराना
मुझे देखता रह गया इक ज़माना
निगाहों को जब आ गया मुस्कुराना

इरादों का ईमान फैला जवानी
इरादों का ईमान फैला जवानी
न दुनिया की बातें मेरे दिल ने मानी
न दुनिया की बातें मेरे दिल ने मानी
किया है वही मेरे दिल ने जो ठाना
दिल ने जो ठाना निगाहों को
निगाहों को जब आ गया मुस्कुराना
मुझे देखता रह गया इक ज़माना
निगाहों को जब आ गया मुस्कुराना

में बिजली सी बन कर मचल के रहूँगी
में बिजली सी बन कर मचल के रहूँगी
ज़माने की रस्में बदल के रहूँगी
ज़माने की रस्में बदल के रहूँगी
इशारों से मेरे चलेगा ज़माना
निगाहों को
निगाहों को जब आ गया मुस्कुराना
मुझे देखता रह गया इक ज़माना
निगाहों को जब आ गया मुस्कुराना.


Lyrics in English

Hmm hmm hmm hmm
Nigaahon ko jab aa gaya muskurana
Nigaahon ko jab aa gaya muskurana
Mujhe dekhtaa reh gaya ik zamaana
Nigaahon ko jab aa gaya muskurana

Hai panchhi mere geet gaane lage
Hai panchhi mere geet gaane lage
Naye dhang se chahchaaane lage
Naye dang se chahchaane lage
Meri zindagi hai subah ka taraana
Nigaahon ko
Nigaahon ko jab aa gaya muskurana
Mujhe dekhtaa reh gaya ik zamaana
Nigaahon ko jab aa gaya muskurana

Iraadon ka imaan phailaa jawaani
Iraadon ka imaan phailaa jawaani
Na duniya ki baaten mere dil ne maani
Na duniya ki baaten mere dil ne maani
Kiyaa hai wohi mere dil ne jo thhaana
Dil ne jo thhaana nigaahon ko
Nigaahon ko jab aa gaya muskurana
Mujhe dekhtaa reh gaya ik zamaana
Nigaahon ko jab aa gaya muskurana

Main bijli si ban kar machal ke rahoongi
Main bijli si ban kar machal ke rahoongi
Zamaane ki rasmen badal ke rahoongi
Zamaane ki rasmen badal ke rahoongi
Ishaaron se mere chalegaa zamaana
Nigaahon ko
Nigaahon ko jab aa gaya muskurana
Mujhe dekhtaa reh gaya ik zamaana
Nigaahon ko jab aa gaya muskurana

Leave a Reply