Mujra

Nikle The Kahan Jane Ke Liye (Bahu Begum)

By  | 



Song Info

Movie/Album: Bahu Begum

Release:1967

Music Director: Roshan

Lyrics Sahir Ludhiyanvi

Singers:  Asha Bhonsle

Lyrics in Hindi

निकले थे कहाँ जाने के लिये, पहुंचे है कहाँ मालूम नहीं

अब अपने भटकते क़दमों को, मंजिल का निशान मालूम नहीं

हमने भी कभी इस गुल्शन में, एक ख्वाब-ए-बहारादेखा था

कब फूल झरे, कब गर्द उड़ी, कब आई खिज़ां मालूम नहीं

दिल शोल-ए-ग़म से खाक हुआ, या आग लगी अरमानों में

क्या चीज़ जली क्यूं सीने सेउठताहै धुआं मालूम नहीं

बरबाद वफ़ा का अफ़साना हम किसे कहें और कैसे कहें

खामोश हैं लब और दुनिया को अश्कों की ज़ुबां मालूम नहीं

Song Trivia

Official Video

Other Renditions

No video file selected

Leave a Reply