Drama

Raat Aaj Ki Yeh (Chalti Ka Naam Zindagi)

By  | 

Movie: Chalti Ka Naam Zindagi
Release: 1982
Featuring Actors: Rita Bhaduri, Master Bhagwan
Music Directors: Kishore Kumar
Lyrics: Irshad Kamil
Singers: Amit Kumar
Trivia:

Lyrics in Hindi

रात आज की ये हो रात दिल कशी की ये
दिलनशी भी है हमनशी भी है
उमंगें जागी हर दिल में
ख़ुशी की महफ़िल में
तू भी जो शामिल हो
तो ये और ये कुछ और खिल जाये
रात आज की ये हो रात दिल कशी की ये
दिलनशी भी है हमनशी भी है
उमंगें जागी हर दिल में
ख़ुशी की महफ़िल में
तू भी जो शामिल हो
तो ये और ये कुछ और खिल जाये
रात आज की ये हो रात दिल कशी की ये

आंख से छलकते है नशे के पैमाने
झूमने लगे दिल होक यु मस्ताने
कहत इहै नजर प्यार के नए अफसाने
सपनो में गुम हो रहे है सब दीवाने
सभी के होठों पे वीरानी खुशियों का
हसीं तराना है
उमंगें जागी हर दिल में
ख़ुशी की महफ़िल में
तू भी जो शामिल हो
तो ये और ये कुछ और खिल जाये
रात आज की ये हो रात दिल कशी की ये

हमदम मेरा बहो में मेरी आया है
दिल दे गुल कोई जैसे मुस्काया है
तेरी ऐडा बन गयी है जा महफ़िल की
तू जो जरा हास् कर सरमाया है
शमा सुहाना है
किसी की चाहत का तू भी दीवाना है
उमंगें जागी हर दिल में
ख़ुशी की महफ़िल में
तू भी जो शामिल हो
तो ये और ये कुछ और खिल जाये
रात आज की ये हो रात दिल कशी की ये
हो रात दिल कशी की ये
दिल कशी की ये दिल कशी की ये


Lyrics in English

Raat aaj ki ye ho Raat dil kashi ki ye
Dilnashi bhi hai hamnashi bhi hai
Umange jagi har dil me
Khushi ki mahfil me
Tu bhi jo shamil ho
To ye or ye kuch or khil jaye
Raat aaj ki ye ho Raat dil kashi ki ye
Dilnashi bhi hai hamnashi bhi hai
Umange jagi har dil me
Khushi ki mahfil me
Tu bhi jo shamil ho
To ye or ye kuch or khil jaye
Raat aaj ki ye ho Raat dil kashi ki ye

Ankh se chalakte hai nashe ke paimane
Jhumne lage dil hoke yu mastane
Kaht ihai najar pyar ke naye afsane
Sapno me gum ho rahe hai sab diwane
Sabhi ke hotho pe virani khusiyo ka
Hasi tarana hai
Umange jagi har dil me
Khushi ki mahfil me
Tu bhi jo shamil ho
To ye or ye kuch or khil jaye
Raat aaj ki ye ho Raat dil kashi ki ye

Humdum mera baho me meri aaya hai
Dil de gul koi jaise muskaya hai
Teri ada ban gayi hai ja mahfil ki
Tu jo jara has kar sarmaya hai
Shama suhana hai
Kisi ki chahat ka tu bhi diwana hai
Umange jagi har dil me
Khushi ki mahfil me
Tu bhi jo shamil ho
To ye or ye kuch or khil jaye
Raat aaj ki ye ho Raat dil kashi ki ye
Ho Raat dil kashi ki ye
Dil kashi ki ye, dil kashi ki ye.

Leave a Reply