Romantic

Roz Shaam Aati Thi (Imtihaan)

By  | 



Song Info

Movie/Album: Imtihan
Release: 1974
Music Director: Laxmikant Pyarelal
Lyrics Majrooh Sultanpuri
Singers: Lata Mangeshkar

Lyrics in Hindi

रोज़ शाम आती थी,

मगर ऐसी ना थी
रोज़ रोज़ घटा छाती थी,

मगर ऐसी ना थी

ये आज मेरी जिंदगी में कौन आ गया

डाली में ये किसका हाथ

कर इशारे बुलाये मुझे(2)
झूमती चंचल हवा,

छू के तन गुदगुदाये मुझे
होले होले, धीरे धीरे कोई गीत मुझको सुनाये
प्रीत मन में जगाये, खुली आँख सपने दिखाये

दिखाये दिखाये दिखाये

खुली आँख सपने दिखाये

ये आज मेरी जिंदगी में कौन आ गया

||रोज़||

अरमानों का रंग हैं

जहा पलकें उठाती हूँ मैं(2)
हसहस के हैं देखती,

जो भी मूरत बनाती हूँ मैं
जैसे कोई मुझे छेड़े

जिस ओर भी जाती हूँ मैं
डगमगाती हूँ मैं, दीवानी हुई जाती हूँ मैं

दीवानी दीवानी दीवानी

दीवानी हुई जाती हूँ मैं

ये आज मेरी जिंदगी में कौन आ गया

||रोज||

Song Trivia

Official Video

Other Renditions

No video file selected

Leave a Reply