Mujra

Saakiya Aaj Mujhe Neend (Sahib Bibi Aur Ghulam)

By  | 

Song Info

Movie: Sahib Bibi Aur Ghulam
Release: 1962
Featuring Actors: Guru Dutt, Meena Kumari, Waheeda Rehman
Music Directors: Hemant Kumar
Lyrics: Shakeel Badayuni
Singers: Asha Bhosle
Trivia:

Lyrics in Hindi

साक़िया, साक़िया, साक़िया
आज मुझे नींद नहीं आएगी
नींद नहीं आएगी
साक़िया आज मुझे नींद नहीं आएगी
सुना है तेरी मेहफ़िल में रत जगा है
आँखों आँखों में यूँ ही रात गुज़र जायेगी
सुना है तेरी मेहफ़िल में रत जगा है
साक़िया आज मुझे नींद नहीं आएगी
सुना है तेरी मेहफ़िल में रत जगा है
आँखों आँखों में यूँ ही रात गुज़र जायेगी
सुना है तेरी मेहफ़िल में रत जगा है
सुना है तेरी मेहफ़िल में रत जगा है

आ साक़ी है और शाम भी उल्फत का जाम भी
हो तक़दीर है उसी की जो ले इनसे काम भी



रंग-ए-मेहफ़िल है रात भर के लिए
रंग-ए-मेहफ़िल है रात भर के लिए
सोचना क्या अभी सहर के लिए
सोचना क्या अभी सहर के लिए
रंग-ए-मेहफ़िल है रात भर के लिए
सोचना क्या अभी सहर के लिए
तेरा जलवा हो तेरी सूरत हो
और क्या चाहिए नज़र के लिए
और क्या चाहिए नज़र के लिए
आज सूरत तेरी बेपरदा नज़र आएगी
सुना है तेरी मेहफ़िल में रत जगा है
साक़िया आज मुझे नींद नहीं आएगी
सुना है तेरी मेहफ़िल में रत जगा है
सुना है तेरी मेहफ़िल में रत जगा है

आ… मोहब्बत में जो मिट जाता है
वो कुछ केह नहीं सकता
ये वो कुचा है जिसमे
दिल सलामत रेह नहीं सकता
किसकी दुनिया यहां तबाह नहीं
किसकी दुनिया यहां तबाह नहीं
कौन है जिसके लब पे आह नहीं
कौन है जिसके लब पे आह नहीं
किसकी दुनिया यहां तबाह नहीं
कौन है जिसके लब पे आह नहीं
हुस्न पर दिल ज़रूर आएगा
इस से बचने की कोई राह नहीं
इस से बचने की कोई राह नहीं
ज़िन्दगी आज नज़र मिलते ही लुट जायेगी
सुना है तेरी महफ़िल में रत जगा है
साक़िया आज मुझे नींद नहीं आएगी
आ आ आ आँखों आँखों में यूँ ही रात गुज़र जायेगी
सुना है तेरी मेहफ़िल में रत जगा है
सुना है तेरी मेहफ़िल में रत जगा है

Lyrics in English

Saaqiya, saaqiya, saaqiya
Aaj mujhe neend nahin aaegi
Neend nahin aaegi
Saaqiya aaj mujhe neend nahin aaegi
Suna hai teri mehafil mein raat jaga hai
Aankhon aankhon mein yoon hee raat guzar jaayegee
Suna hai teri mehafil mein raat jaga hai
Saaqiya aaj mujhe neend nahin aaegi
Suna hai teri mehafil mein raat jaga hai
Aankhon aankhon mein yoon hee raat guzar jaayegee
Suna hai teri mehafil mein raat jaga hai
Suna hai teri mehafil mein raat jaga hai

Aa saaqee hai aur shaam bhee ulphat ka jaam bhee
Ho taqadeer hai usee kee jo le inase kaam bhee

Rang-e-mehafil hai raat bhar ke lie
Rang-e-mehafil hai raat bhar ke lie
Sochana kya abhee sahar ke lie
Sochana kya abhee sahar ke lie
Rang-e-mehafil hai raat bhar ke lie
Sochana kya abhee sahar ke lie
Tera jalava ho teri sooraat ho
Aur kya chaahie nazar ke lie
Aur kya chaahie nazar ke lie
Aaj sooraat teri beparada nazar aaegi
Suna hai teri mehafil mein raat jaga hai
Saaqiya aaj mujhe neend nahin aaegi
Suna hai teri mehafil mein raat jaga hai
Suna hai teri mehafil mein raat jaga hai

Aa… mohabbat mein jo mit jaata hai
Vo kuch keh nahin sakata
Ye vo kucha hai jisame
Dil salaamat reh nahin sakata
Kiski duniya yahaan tabaah nahin
Kiski duniya yahaan tabaah nahin
Kaun hai jisake lab pe aah nahin
Kaun hai jisake lab pe aah nahin
Kiski duniya yahaan tabaah nahin
Kaun hai jisake lab pe aah nahin
Husn par dil zaroor aaega
Is se bachane kee koee raah nahin
Is se bachane kee koee raah nahin
Zindagi aaj nazar milate hee lut jaayegi
Suna hai teri mahafil mein raat jaga hai
Saaqiya aaj mujhe neend nahin aaegi
Aa aa aa aankhon aankhon mein yoon hee raat guzar jaayegee
Suna hai teri mehafil mein raat jaga hai
Suna hai teri mehafil mein raat jaga hai

Official Video

Other Video

No video file selected

Leave a Reply