Drama

Sabhi Sukh Dur Se Guzare (Aarambh)

By  | 

Movie: Aarambh
Release:  2010
Featuring Actors: Saira Banu , Kishore Namit Kapoor, Ravi Kumar
Music Directors: Anand Shankar
Lyrics: Harish Bhadani.
Singers: Mukesh
Trivia:

Lyrics in Hindi

सभी सुख दूर से गुज़रे
गुज़रते ही चले जाये
मगर पीड़ा उम्र भर
साथ चलने को उतारू है
सभी दुःख दूर से गुज़रे
गुज़रते ही चले जाये
मगर पीड़ा उम्र भर
साथ चलने को उतारू है
सभी दुःख दूर से गुज़रे
गुज़रते ही चले जाये

हमारा धूप में घर
छाँव की क्या बात जाने हम
अभी तक तोह अकेले ही चले
क्या साथ जाने हम
बता दे क्या घुटन की
घटिया कैसी लगी हमको
सदा नंगा रहा आकाश
क्या बरसात जाने हम
बहरे दूर से गुज़रे
गुज्जरति ही चली जाये
मगर पतझड़ उम्र भर
साथ चलने को उतारू है
सभी दुःख दूर से गुज़रे
गुज़रते ही चले जाये

अटारी को धरा से किस तरह
आवाज़ दे दे हम
मेंहदिया पांव को
क्यूँ दूर का अंदाज़ दे दे हम
चले शमशान की देहरी
वही है साथ की संज्ञा
बर्फ के एक बुत को आस्था की
आंच क्यों दे हम
हमें अपने सभी बिसरे
बिसराते ही चले जाये
मगर सुधियाँ उम्र भर
साथ चलने को उतारू है
सभी दुःख दूर से गुज़रे
गुज़रते ही चले जाये.


Lyrics in English

Sabhi sukh dur se guzare
Guzarte hi chale jaye
Magar pida umar bhar
Saath chalane ko utaru hai
Sabhi dukh dur se guzare
Guzarte hi chale jaye
Magar pida umar bhar
Saath chalane ko utaru hai
Sabhi dukh dur se guzare
Guzarte hi chale jaye

Hamara dhup me ghar
Chhanv ki kya baat jane ham
Abhi tak toh akele hi chale
Kya saath jane ham
Baata de kya ghutan ki
Ghatiya kaisi lagi hamako
Sada nanga raha aakash
Kya barasat jane ham
Bahare dur se guzare
Guzjrati hi chali jaye
Magar patajhad umar bhar
Saath chalane ko utaru hai
Sabhi dukh dur se guzare
Guzarte hi chale jaye

Atari ko dhara se kis tarah
Aawaz de de ham
Menhadiya panv ko
Kyun dur ka andaaz de de ham
Chale shamshan ki dehari
Wohi hai saath ki sangya
Baraf ke ek but ko aastha ki
Aanch kyun de ham
Hame apane sabhi bisare
Bisarate hi chale jaye
Magar sudhiyan umar bhar
Saath chalane ko utaru hai
Sabhi dukh dur se guzare
Guzarte hi chale jaye.

Leave a Reply