Drama

Sabko Bhagwan Dekh Raha Tu (Ghar Ghar Ki Baat)

By  | 

Movie: Ghar Ghar Ki Baat
Release: 1959
Featuring Actors: Suresh, Azra
Music Director: Kalyanji Virji Shah
Lyrics: Gulshan Bawra
Singer: Geeta Dutt, Suman Kalyanpur
Trivia:

Lyrics in Hindi

सबको भगवान देख रहा तू

सबको भगवान देख रहा तू

सबका पालन हारा तू जिस का

जग में कोई नहीं है उसका एक सहारा तू

सबको भगवान देख रहा तू

सबका पालन हारा तू जिस का

जग में कोई नहीं है उसका एक सहारा तू

सबको भगवान देख रहा तू

वन टू थ्री फोर

सहारा मिल गया हसीं बहो का

इशारा हो गया तेरी निगाहों का

बहार भी जवान है में तेरी तू कमाल ये

है तेरा लिए है ज़िन्दगी

ज़िन्दगी में तब ही सुख है

ज़िन्दगी में तब ही सुख है

जब हम तेरा ध्यान धरे

दूर हो जीवन से अँधियारा

जग में सुख के दीप जले

सबको भगवान देख रहा तू

जलेंगे

शम्मा की लौ से परवाने

मिलेंग प्यार में आजा दिवाने

बड़ा मज़ा है प्यार में किसी के

इंतज़ार में ये नाम है इसी का ज़िन्दगी

सबको भगवान देख रहा तू

सबको भगवान देख रहा तू

सबका पालन हारा तू जिस का

जग में कोई नहीं है उसका एक सहारा तू

सबको भगवान देख रहा तू

ज़िन्दगी है इसी में प्राणी

ज़िन्दगी है इसी में प्राणी

भगवान के गुण गावे तू

दो दिन कण है जीवन सारा

इसको सफल बना ले तू

सबको भगवान देख रहा तू

बना लो हमसफ़र कोई राहों में

बसा लो प्यार मेरी निगाहों में

नज़र मिले जहा जाले जहाँ

से दूर हम चले दुश्मन है

दुनिया प्यार की.


Lyrics in English

Sabko bhagwan dekh raha tu
Sabko bhagwan dekh raha tu
Sabka palan hara tu jis ka
Jag me koi nahi hai uska ek sahara tu
Sabko bhagwan dekh raha tu
Sabka palan hara tu jis ka
Jag me koi nahi hai uska ek sahara tu
Sabko bhagwan dekh raha tu
One two three four

Sahara mil gaya haseen baho ka
Ishara ho gaya teri nigaho ka
Bahar bhi jawan hai me teri tu kamal ye
Hai tera liye hai zindagi

Zindagi me tab hi sukh hai
Zindagi me tab hi sukh hai
Jab hum tera dhyan dhare
Dur ho jiwan se andhiyara
Jag me sukh ke deep jale
Sabko bhagwan dekh raha tu

Jalainge
Shamma ki low se parwane
Milaing pyar me aaja diwane
Bada maza hai pyar me kisi ke
Intazar me ye nam hai isi ka zindagi

Sabko bhagwan dekh raha tu
Sabko bhagwan dekh raha tu
Sabka palan hara tu jis ka
Jag me koi nahi hai uska ek sahara tu
Sabko bhagwan dekh raha tu

Zindagi hai isi me prani
Zindagi hai isi me prani
Bhagawan ke gun gave tu
Do din kan hai jiwan sara
Isko safal bana le tu
Sabko bhagwan dekh raha tu

Bana lo humsafar koi raho me
Basa lo pyar meri nigaho me
Nazar mile jaha jale jaha
Se dur hum chale dushman hai
Duniya pyar ki.

Leave a Reply