Drama

Samjha Main Kismat Khul Gaye (Daulat Ke Dushman)

By  | 

Movie: Daulat Ke Dushman
Release: 1983
Featuring Actors: Shatrughan Sinha, Vinod Khanna
Music Directors: Rahul Dev Burman
Lyrics:  Majrooh Sultanpuri
Singers: Mohammed Rafi
Trivia:

Lyrics in Hindi

समझा मैं किस्मत खुल गयी
समझा मैं किस्मत खुल गयी
मुझको राम भूधिया मिल गयी
समझा मैं किस्मत खुल गयी
मुझको राम भूधिया मिल गयी
अरे पहुंचा जब उसकी महफ़िल में
क्या क्या अरमा थे दिल के
सब रह गए दिल में
समझा मैं किस्मत खुल गयी
मुझको राम भूधिया मिल गयी

सोच रहा था मैं है मेरी
मेहबूबा चन्दा सा टुकड़ा
झुम्के देखूँगा चुमके देखूँगा
गोरा गोरा मुखड़ा
सोच रहा था मैं है मेरी
मेहबूबा चन्दा सा टुकड़ा
झुम्के देखूँगा चुमके देखूँगा
गोरा गोरा मुखड़ा
यही धुन थी बसूँगा मैं
जावा गलो के टिल मैं
क्या क्या अरमान थे
दिल मैं रह गए दिल मैं
समझा मैं किस्मत खुल गयी
मुझको राम भूधिया मिल गयी

देख सिंगर उसका मैं तो यही समझा
है कोई सूरत वाली चेहरे की लाली को
पहोंच के देखा तो निकलि भूधिया काली
देख सिंगर उसका मै तो यही समझा
है कोई सूरत वाली चेहरे की लाली को
पहोंच के देखा तो निकलि भूधिया काली
दुखी बनके पड़ा हूँ
मैं मोहब्बत की मंज़िल में
क्या क्या अरमा थे दिल के
सब रह गए दिल में
समझा मैं किस्मत खुल गयी
मुझको राम भूधिया मिल
अरे पहुंचा जब उसकी महफ़िल में
क्या क्या अरमा थे दिल के
सब रह गए दिल में
समझा मैं किस्मत खुल गयी
मुझको राम भूधिया मिल गयी.


Lyrics in English

Samjha main kismat khul gayi
Samjha main kismat khul gayi
Mujhko ram bhudhiya mil gayi
Samjha main kismat khul gayi
Mujhko ram bhudhiya mil gayi
Arey pahuncha jab uski mehfil me
Kya kya arma the dil ke
Sab rah gaye dil me
Samjha main kismat khul gayi
Mujhko ram bhudhiya mil gayi

Soch raha tha main hai meri
Mehbuba chanda sa tukda
Jhumke dekhunga chumke dekhunga
Gora gora mukhda
Soch raha tha main hai meri
Mehbuba chanda sa tukda
Jhumke dekhunga chumke dekhunga
Gora gora mukhda
Yahi dhun thi basunga main
Java galo ke til main
Kya kya arman the
Dil mai reh gaye dil main
Samjha main kismat khul gayi
Mujhko ram bhudhiya mil gayi

Dekh singar uska main to yahi samjha
Hai koi surat wali chehare ki lali ko
Pahonch ke dekha to nikli bhudhiya kali
Dekh singar uska mai to yahi samjha
Hai koi surat wali chehare ki lali ko
Pahonch ke dekha to nikli bhudhiya kali
Dukhi banke pada hoon
Main mohabbat ki manzil mein
Kya kya arma the dil ke
Sab rah gaye dil mein
Samjha main kismat khul gayi
Mujhko ram bhudhiya mil
Arey pahuncha jab uski mehfil mein
Kya kya arma the dil ke
Sab rah gaye dil mein
Samjha main kismat khul gayi
Mujhko ram bhudhiya mil gayi.

Leave a Reply