Fifties(1950-59)

Shaam Dhale Khidki Tale ( Albela )

By  | 



Song Info

Movie/Album: Albela
Release: 1951
Music Director: Ramchandra Narhar Chitalkar
Lyrics Rajinder Krishan
Singers: Lata Mangeshkar and Ramchandra Narhar Chitalkar

Lyrics in Hindi

शाम ढले खिड़की तले

तुम सिटी बजाना छोड दो (2)

घड़ी घड़ी खड़की में खड़ी

तुम तीर चलाना छोड दो (2)

शाम ढले खिड़की तले

तुम सिटी बजाना छोड दो

तुम तीर चलाना छोड दो

रोज़ रोज़ तुम मेरी गली में

चक्कर क्यों हो काटते

अजी चक्कर क्यों हो काटते

सच्ची सच्ची बात कहूँ मैं

सच्ची सच्ची बात कहूँ मैं

अजी तुम्हारे वास्ते

तुम्हारे वास्ते

जाओ जाओ होश में आओ

यूँ आनाजाना छोड दो(2)

शाम ढले खिड़की तले

तुम सिटी बजाना छोड दो

तुम तीर चलाना छोड दो

मुझसे तुम्हे कया मतलब है

ये बात ज़रा बतलाओ(2)

बात फकत इत्नी सी है

के तुम मेरी होजाओ

आओ आओ तुम मेरी होजाओ

ऐसे बाते अपने दिल में

साहब तुगलाना छोड़दो ||शाम||

चार महीने महनत कीहै

अजीरंग कभी तो लाएगी

जाओ जाओ जी यहाँ तुम्हारी

दाल कभी गलने न पाएगी

अजी दाल कभी गलने न पाएगी

दिलवालों मतवालों पर

तुम रोब जमाना छोड दो

तुम रोब जमाना छोड दो ||शाम||

Song Trivia

Official Video

Other Renditions

No video file selected

Leave a Reply