Drama

Tere Hatho Me Apni Zindagi (Ek Din Ka Badshah)

By  | 

Movie: Ek Din Ka Badshah
Release: 1964
Featuring Actors: Jairaj, Nishi, Jugal Kishore, Sunder
Music Director: Hansraj Behl
Lyrics: Prem Warbartani
Singer: Asha Bhosle, Mahendra Kapoor
Trivia:

Lyrics in Hindi

तेरे हाथों में अपनी
ज़िन्दगी का साज देते है
चले आओ भरी महफ़िल से
हम आवाज़ देते है

रात भर हमको न उठने दिया
मयखाने से
कभी आँखों से पिलाई
कभी पैमाने से
कभी आँखों से पिलाई
कभी पैमाने से

हाय क्या रंग है
क्या मौत की रानाई है
आज जन्नत मेरी
आँखों में उतर आई है
जब किया है कभी
जन्नत का तासुर हमने
जब किया है कभी
जन्नत का तासुर हमने
तेरी तस्वीर उभर
आयी है पैमाने से
तेरी तस्वीर उभर
आयी है पैमाने से
कभी आँखों से
पिलाई कभी पैमाने से

न भरी बज़्म से डरते हो
न घबराते हो
कैसे नादाँ हो जुदा मनन से
लिपट जाते हो
बेखुदी में किसी दमन से
लिपटने का मज़ा
बेखुदी में किसी दमन से
लिपटने का मज़ा
जाके पूछो किसी
बहके हुए दीवाने से
जाके पूछो किसी
बहके हुए दीवाने से
कभी आँखों से
पिलाई कभी पैमाने से

जैम नहीं तो
जरुरी नहीं जीने के लिए
जिसने मजबूर किया
है तुम्हे पिने के लिए
तौबा करने ही चले थे के
रूखे रोशन पर
तौबा करने ही चल्ने थे
के रूखे रोशन पर
छा गयी काली घटा
जुल्फ बिखर जाने पे
छा गयी काली घटा
जुल्फ बिखर जाने पे
कभी आँखों से
पिलाई कभी पैमाने से

तुमने जब भी
रूखे मासुम पे
डाली नजरे
हमने
शर्मा के सरे बज़्म
झुका ली नजरे
तेरी झुकती हुई नजरों का
इशारा तो कर
तेरी झुकती हुई नजरों का
इशारा तो कर
हमने टकरा
दिया पैमाने को
पैमाने से
हमने टकरा
दिया पैमाने को
पैमाने से
कभी आँखों से
पिलाई कभी पैमाने से.


Lyrics in English

Tere hatho me apni
Zindagi ka saj dete hai
Chale aao bhari mahfil se
Hum aawaz dete hai

Rat bhar haamko na uthne diya
Maykhane se
Kabhi aankho se pilai
Kabhi paymane se
Kabhi aankho se pilai
Kabhi paymane se

Haye kya rang hai
Kya maut ki ranayi hai
Aaj jannat meri
Aankho me utar aayi hai
Jab kiya hai kabhi
Jannat ka tasuur hamne
Jab kiya hai kabhi
Jannat ka tasuur hamne
Teri tasvir ubhar
Aayi hai paymane se
Teri tasvir ubhar
Aayi hai paymane se
Kabhi aankho se
Pilai kabhi paymane se

Na bhari bazm se darte ho
Na ghabrate ho
Kaise nadan ho juda mann se
Lipat jate ho
Bekhudi me kisi daman se
Lipatne ka maza
Bekhudi me kisi daman se
Lipatne ka maza
Jake pucho kisi
Bahke hue deewane se
Jake pucho kisi
Bahke hue deewane se
Kabhi aankho se
Pilai kabhi paymane se

Jam nahi to
Jaruri nahi jine ke liye
Jisne majbur kiya
Hai tumhe pine ke liye
Tauba karne hi chale the ke
Rukhe roshan par
Tauba karne hi chalne the
Ke rukhe roshan par
Cha gayi kali ghata
Julf bikhar jane pe
Cha gayi kali ghata
Julf bikhar jane pe
Kabhi aankho se
Pilai kabhi paymane se

Tumne jab bhi
Rukhe masum pe
Dali najre
Hamne
Sharma ke sare bazm
Jhuka li najre
Teri jhukti hui najro ka
Ishara to kar
Teri jhukti hui najro ka
Ishara to kar
Hamne takra
Diya paymane ko
Paymane se
Hamne takra
Diya paymane ko
Paymane se
Kabhi aankho se
Pilai kabhi paymane se.

Leave a Reply