Fifties(1950-59)

Ye Raat Ye Chandni-Male (Jaal)

By  | 



Song Info

Movie/Album: Jaal

Release: 1952

Music Director: S.D.Burman

Lyrics Sahir Ludhianvi

Singers: Hemant Kumar

Lyrics in Hindi

ये रात ये चाँदनी फिर कहाँ
सुन जा दिल की दास्ताँ
ये रात…

पेड़ों की शाखों पे सोई सोई चाँदनी
तेरे खयालों में खोई खोई चाँदनी
और थोड़ी देर में थक के लौट जाएगी
रात ये बहार की फिर कभी न आएगी
दो एक पल और है ये समा, सुन जा…

लहरों के होंठों पे धीमा धीमा राग है
भीगी हवाओं में ठंडी ठंडी आग है
इस हसीन आग में तू भी जलके देखले
ज़िंदगी के गीत की धुन बदल के देखले
खुलने दे अब धड़कनों की ज़ुबाँ, सुन जा…

जाती बहारें हैं उठती जवानियाँ
तारों के छाओं में पहले कहानियाँ
एक बार चल दिये गर तुझे पुकारके
लौटकर न आएंगे क़ाफ़िले बहार के
आजा अभी ज़िंदगी है जवाँ, सुन जा…

Song Trivia

Official Video

Other Renditions

No video file selected

Avid music lover and Dev Anand fan

Leave a Reply