Drama

Yeh Nach Wach Kya Hai (Ek Hasina Do Diwane)

By  | 

Movie: Ek Hasina Do Diwane
Release: 1972
Featuring Actors: Jeetendra, Babita, Vinod Khanna
Music Director: Kalyanji Anandji
Lyrics: Prakash Mehra
Singer:  Mohammed Rafi
Trivia:

Lyrics in Hindi

कुछ लड़के कुछ लड़कियों
की हुई इकठी भीड़
ऐसा नचा नाच के
भैया हो गयी मन को पीड़
हो गयी मन को पीड़
हुआ दिल बड़ा ुदशा
बाप बजाये साज तो
बिटिया है रक्षा
ये नाच वच क्या है
ये नाच वच क्या है
ये क्या गाना बजाना
कुछ पागलो में महफ़िल
बनादि पागल खाना
ये नाच वच क्या है
ये क्या गाना बजाना
कुछ बादलों में महफ़िल
बनादि पागल खाना
ये नाच वच क्या है

बड़ा कष्ट देते हो
पतली कमर को
पतली कमर को
जरा देखिये आप
अपनी की उम्र को
हा अपनी की उम्र को
उसे नाच कहिये
उसे नाच कहिये
जो मदहोश करदे
बिछड़े जमी पर
सभी की नजर को
सभी की नजर को
ये नाच गाना
हमको ऐसा लगता है
जैसे दीवानों का आपस
में बैर हो पुराण
ये नाच वच क्या है

सरम करो डूब मरो
मोहब्बार कन्हैया
से राधा नेकी थी
मोहब्बार कन्हैया
से राधा नेकी थी
मगर उस मोहब्बत
में क्या सादगी थी
जमीं आसमा का
जमीं आसमा का
फर्क हो गया
इंसा का देबा
गरक हो गया है
गरक हो गया है
बतादे कोई हमको
नहीं बता सकोगे
बतादे कोई हमको
समझदे कोई हमको
है कौन इसमें शामा
और कौन है परवाना
ये नाच वच क्या है

न मस्जिद का चर्चा
न मंदिर की बाते
न मस्जिद का चर्चा
न मंदिर की बाते
उजले है पूर्व के
पश्चिम की रेट
ये कैसा नशा है
ये कैसा नशा है
ये कैसा गुमान
ये बेगानी रस्मे ये
रंग भी उधर
जलन भी उधर
वो सदियों पुरानी
हामरी निशानी
तुम्हारी दुआ से
बनी है निशाना
बनी है निशाना

ये नाच वच क्या है
ये नाच वच क्या है
ये क्या गाना बजाना
कुछ पागलो में महफ़िल
बनादि पागल खाना
बनादि पागल खाना
बनादि पागल खाना.


Lyrics in English

Kuch ladke kuch ladkiyo
Ki hui ikathi bhid
Aisa nacha nach ke
Bhaiya ho gayi man ko peed
Ho gayi man ko peed
Hua dil bada udasha
Bap bajaye saj to
Bitiya hai rakasha
Ye nach wach kya hai
Ye nach wach kya hai
Ye kya gana bajana
Kuch paglo me mahfil
Banadi pagal khana
Ye nach wach kya hai
Ye kya gana bajana
Kuch badlo me mahfil
Banadi pagal khana
Ye nach wach kya hai

Bada kasth dete ho
Patli kamar ko
Patli kamar ko
Jara dekhiye aap
Apni ki umar ko
Ha apni ki umar ko
Use nach kahiye
Use nach kahiye
Jo madhosh karde
Bichde jami par
Sabhi ki najar ko
Sabhi ki najar ko
Ye nach gana
Hamko aisa lagta hai
Jaise diwano ka apas
Me bair ho purana
Ye nach wach kya hai

Saram karo dub maro
Mohabbar kanhaiya
Se radha neki thi
Mohabbar kanhaiya
Se radha neki thi
Magar us mohabbat
Me kya sadgi thi
Jami aasma ka
Jami aasma ka
Farak ho gaya
Insa ka deba
Garak ho gaya hai
Garak ho gaya hai
Batade koi hamko
Nahi bata sakoge
Batade koi hamko
Samjhade koi hamko
Hai kaun isme shama
Or kaun hai parwana
Ye nach wach kya hai

Na maszid ka charcha
Na mandir ki bate
Na maszid ka charcha
Na mandir ki bate
Ujale hai puraw ke
Paschim ki rate
Ye kaisa nasha hai
Ye kaisa nasha hai
Ye kaisa guman
Ye begani rasme ye
Rang bhi udhar
Jalan bhi udhar
Wo sadiyo purani
Haamri nishani
Tumhari dua se
Bani hai nishana
Bani hai nishana

Ye nach wach kya hai
Ye nach wach kya hai
Ye kya gana bajana
Kuch paglo me mahfil
Banadi pagal khana
Banadi pagal khana
Banadi pagal khana.

Leave a Reply