Fifties(1950-59)

Yeh Raat Bheegi Bheegi (Chori Chori)

By  | 



Song Info

Movie/Album: Chori Chori
Release: 1956
Music Director: Shankar Jaikishan
Lyrics Shailendra
Singers: Lata Mangeshkar

Lyrics in Hindi

ये रात भीगी भीगी

ये मस्त फिज़ाये
उठा धीरे धीरे

वो चाँद प्यारा प्यारा(2)


क्यों आग सी लगा के

गुमसुम हैं चांदनी
सोने भी नहीं देता

मौसम का ये इशारा

इठलाती हवा, नीलम सा गगन
कलियों पे ये बेहोशी की नमी
ऐसे में भी क्यों बेचैन हैं दिल
जीवन में ना जाने क्या हैं कमी
||क्यों आग सी||

||ये रात भीगी||


जो दिन के उजाले में ना मिला
दिल ढूंढें ऐसे सपने को
इस रात की जगमग में डूबी
मैं ढूंढ रही हूँ अपने को

||ये रात भीगी||

||क्यों आग सी||

ऐसे में कही क्या कोई नहीं
भूले से जो हम को याद करे
एक हल्की सी मुस्कान से जो
सपनों का जहां आबाद करे

||ये रात भीगी||

||क्यों आग सी||

||ये रात भीगी||

Song Trivia

Official Video

Other Renditions

No video file selected

1 Comment

  1. tgrsc

    September 18, 2015 at 4:46 pm

    We don’t get such melodious songs, actors & storylines in a bollywood movie anymore-modern times have changed the tastes of movie fans towards western types.Though there were many scandals inside film industry like modern ones,there were good stories & actors portraying an ideal household characters & in the process,they use to convey some good message to the society at large.

Leave a Reply