Drama

Bedard Zamana Kya Jaane (Guru Dakshina)

By  | 

Movie: Guru Dakshina
Release: 1950
Featuring Actors: NA
Music Director: Lachhiram Tamar
Lyrics: Sarshar Sailani
Singer: Prempal
Trivia:

Lyrics in Hindi

बेदर्द ज़माना क्या जाने
क्यों दर्द के मारे रोते है
वो पास थे लेकिन दूर हुए
वो पास थे लेकिन दूर हुए
आशाओं के दर्पण चूर हुए

अब हुक जिगर में उठती है
और नैन हमारे रट है
बेदर्द ज़माना क्या जाने
क्यों दर्द के मारे रोते है

मझदार खिवैया छोड़ गया
जीवन का सहारा तोड़ गया
जीवन का सहारा तोड़ गया
उम्मीद थी नैया डूब गयी
हम बैठ किनारे रट है
बेदर्द ज़माना क्या जाने
क्यों दर्द के मारे रोते है
बेदर्द ज़माना क्या जाने
क्यों दर्द के मारे रोते है.


Lyrics in English

Bedard zamana kya jaane
Kyu dard ke mare rote hai
Wo paas the lekin dur huye
Wo paas the lekin dur huye
Aashao ke darpan chur huye

Ab huk jigar mein uthti hai
Aur nain hamare rote hai
Bedard zamana kya jaane
Kyu dard ke mare rote hai

Majhdar khiwaiya chod gaya
Jiwan ka sahara tod gaya
Jiwan ka sahara tod gaya
Umid thi naiya dub gayi
Hum baith kinare rote hai
Bedard zamana kya jaane
Kyu dard ke mare rote hai
Bedard zamana kya jaane
Kyu dard ke mare rote hai.

Leave a Reply