Drama

Do Dilo Ko Yeh Duniya (Chand)

By  | 

Movie: Chand
Release: 1944
Featuring Actors: Balakram, Sapru
Music Directors: Bhagatram Batish, Husnlal Batish
Lyrics: Qamar Jalalabadi
Singers: Manju Das
Trivia:

Lyrics in Hindi

दो दिलों को यह दुनिया मिलने ही नहीं देती
दो दिलों को यह दुनिया मिलने ही नहीं देती
आशाओं की कलियों को खिलने ही नहीं देती
आशाओं की कलियों को खिलने ही नहीं देती

एक बैग में क्या देखा
एक बैग में क्या देखा
बुलबुल वहां रोता था
एक बैग में क्या देखा
बुलबुल वहां रोता था
और पास खड़ा माली
कुछ हर पिरोता था
और पास खड़ा माली
कुछ हर पिरोता था

दिल चीर के इक फूल का
दिल चीर के इक फूल का
कुश कितना वह होता था
बुलबुल था तड़प जाता
जब सुई चभूता था
दुःख सह ना सका बुलबुल
दुःख सह ना सका बुलबुल
कुछ कह ना सका बुलबुल
फिर बहने लगे आंसू और
कहने लगे आंसू
फिर बहने लगे आंसू और
कहने लगे आंसू
दो दिलों को यह दुनिया मिलने ही नहीं देती
आशाओं की कलियों को खिलने ही नहीं देती
दो दिलों को यह दुनिया मिलने ही नहीं देती

तुम मुझसे यह फुच्चो गए
तुम मुझसे यह फुच्चो गए
क्या फूल की हालत थी
रूठा हुवा माली था
बिगड़ी हुई किस्मत थी
रूठा हुवा माली था
बिगड़ी हुई किस्मत थी
आँखों में तोह आंसू थे
आँखों में तोह आंसू
थे बेचैन तबियत थी
सुनसान था दिल उसका
बरबाद मुहब्बत थी

बुलबुल से जुदा हो कर
बुलबुल से जुदा हो कर
माली से खफा हो कर
माली से खफा हो कर
काँटों में लगा रहने और
फूल लगा कहने
काँटों में लगा रहने और
फूल लगा कहने
दो दिलों को यह दुनिया
मिलने ही नहीं देती
आशाओं की कलियों को
खिलने ही नहीं देती
दो दिलों को यह दुनिया
मिलने ही नहीं देती.


Lyrics in English

Do dilo ko yeh duniya milne hi nahi deti
Do dilo ko yeh duniya milne hi nahi deti
Aashao ki kaliyo ko khilane hi nahi deti
Aashao ki kaliyo ko khilane hi nahi deti

Ik bag mein kya dekha
Ik bag mein kya dekha
Bulbul wahan rota tha
Ik bag mein kya dekha
Bulbul wahan rota tha
Aur pas khada mali
Kuchh har pirota tha
Aur pas khada mali
Kuchh har pirota tha

Dil chir key ik phooll kaa
Dil chir key ik phooll kaa
Kush kitna woh hota tha
Bulbul tha tadap jata
Jab sui chabhota tha
Dukh sah naa saka bulbul
Dukh sah naa saka bulbul
Kuchh kah naa saka bulbul
Phir behne lage aansoo aur
Kehne lage aansoo
Phir behne lage aansoo aur
Kehne lage aansoo, kya?
Do dilo ko yeh duniya milne hi nahi deti
Aashao ki kaliyo ko khilane hi nahi deti
Do dilo ko yeh duniya milne hi nahi deti

Tum mujhase yeh phuchho ge
Tum mujhase yeh phuchho ge
Kya phooll ki halat thi
Rutha huwa mali tha
Bigadi huyi kismat thi
Rutha huwa mali tha
Bigadi huyi kismat thi
Aankho mein toh aansoo the
Aankho mein toh aansoo
The bechain tabiyat thi
Sunsan tha dil usaka
Barabad muhabbat thi

Bulbul se juda ho kar
Bulbul se juda ho kar
Mali se kafa ho kar
Mali se kafa ho kar
Kanton mein laga rahane aur
Phooll laga kehne
Kanton mein laga rahane aur
Phooll laga kehne, kya?
Do dilo ko yeh duniya
Milne hi nahi deti
Aashao ki kaliyo ko
Khilane hi nahi deti
Do dilo ko yeh duniya
Milne hi nahi deti.

Leave a Reply