Drama

Phir Wohi Raat Hai (Ghar)

By  | 

Movie: Ghar
Release: 1978
Featuring Actors: Vinod Mehra, Rekha
Music Director: Rahul Dev Burman
Lyrics: Gulzar
Singer: Kishore Kumar
Trivia:

Lyrics in Hindi

फिर वही रात हैं
हम्म हम्म हम्म
फिर वही रात हैं
फिर वही रात हैं
ख्वाबों की
रात भर ख्वाब में
देखा करेंगे तुम्हे
फिर वही रात हैं
फिर वही रात हैं
फिर वही रात हैं
ख्वाबों की
रात भर ख्वाब में
देखा करेंगे तुम्हे
फिर वही रात हैं

मासूम सी नींद
में जब कोई सपना चले
हमको बुला लेना तुम
पलकों के परदे ठाले
यह रात है ख्वाब
की ख़्वाब की रात हैं
फिर वही रात हैं
फिर वही रात हैं
फिर वही रात हैं
ख्वाबों की

काँच के ख़्वाब हैं
आँखों में चुभ जायेंगे
पलकों में ले न इन्हें
आँखों में रुत जायेंगे
यह रात है ख्वाब
की ख़्वाब की रात हैं
फिर वही रात हैं
फिर वही रात हैं
फिर वही रात हैं
ख्वाबों की
रात भर ख्वाब में
देखा करेंगे तुम्हे
फिर वही रात हैं
रात हैं रात हैं.


Lyrics in English

Phir wahi raat hain
Hmm hmm hmm
Phir wahi raat hain
Phir wahi raat hain
Khwaabo ki
Raat bhar khwaab mein
Dekha karenge tumhe
Phir wahi raat hain
Phir wahi raat hain
Phir wahi raat hain
Khwaabo ki
Raat bhar khwaab mein
Dekha karenge tumhe
Phir wahi raat hain

Masoom si neend
Mein jb koi sapna chale
Humko bula lena tum
Palko ke parde tale
Yeh raat hain khwaab
Ki khwaab ki raat hain
Phir wahi raat hain
Phir wahi raat hain
Phir wahi raat hain
Khwaabo ki

Kaanch ke khwaab hain
Aankhon mein chubh jayenge
Palko mein le na inhe
Aankho mein rut jayenge
Yeh raat hain khwaab
Ki khwaab ki raat hain
Phir wahi raat hain
Phir wahi raat hain
Phir wahi raat hain
Khwaabo ki
Raat bhar khwaab mein
Dekha karenge tumhe
Phir wahi raat hain
Raat hain raat hain.

Leave a Reply