Drama

Title Song (Gali Gali Chor Hai)

By  | 

Movie: Gali Gali Chor Hai
Release: 2012
Featuring Actors: Akshaye Khanna, Shriya Saran, Mugdha Godse
Music Director:   Anu Malik
Lyrics: Swanand Kirkire
Singer: Kailash Kher
Trivia:

Lyrics in Hindi

यह सब मन के भी हैं काले
यह सब धन के भी हैं काले
क्या बात है भैय्या क्या बात है
मेरे घर में ही रहते
हैं मेरा घर लूटने वाले
दिल की बात कह दी है
भैय्या दिल की बात
जो चीज़ें जंगलों की है
उन्हें जंगल में रहना था
वह अब दिल्ली में रहते हैं
जिहने चम्बल में रहना था
जिहने चम्बल में रहना था
निकालो निकालो इन् बेईमानो को

गली गली चोर है गली गली चोर है
करप्शन करप्शन
करप्शन का शोर है
चोरों का ज़ोर है चोरों का ज़ोर है
चोरों का दौर है चोरों का दौर है
चोरों से बंधी हुई चोरों की डोर है
चोरों से बंधी हुई चोरों की डोर है
गली गली चोर है गली गली चोर है
अभी मिंयां सच्ची बात बोली है तूने

करप्शन ने लिखी है सारी कहानी
करप्शन ने लिखी है सारी कहानी
बिना घूस खोरी न बिजली न पानी
बिना घूस खोरी न बिजली न पानी
यहाँ सांस लेने की कीमत लगी गई
घरों से निकलते ही रिश्वत लगेय गई
यहाँ आम लोगों का है यह मुक़द्देर
न कुछ घर के बाहर
न कुछ घर के अंदर
न कुछ घर के बाहर
न कुछ घर के अंदर
न नेहरू का सपना सलामत रहा है
न गांधी का चरखा सलामत रहा है
अदालत कचहरी यह वर्दी यह थाने
चलते हैं रिश्वत के सब
कारखाने सब कारखाने
दिशा कोई भी हो लूटेरों का ज़ोर है
दिशा कोई भी हो लूटेरों का ज़ोर है
गली गली चोर है गली गली चोर है

यह टोपी यह धोती यह कुर्ते पजामे
यह कुर्ते पजामे
सब इनके नाटक है सब इनके ड्रामें
सब इनके ड्रामें सब इनके ड्रामें
कोई इन् से कह दे गरेबान में जानके
दुआ है के खुल जाए दिल्ली की आँखें
लड़ाई अभी हमको रखनी है जारी
है आज़ादी अब तक अधूरी
हमारी अधूरी हमारी
सियासी लूटेरों का कैसा यह दौर
सियासी लूटेरों का कैसा यह दौर
गली गली चोर है गली गली चोर है
गली गली चोर है गली गली चोर है

बुरजां है यह करप्शन
दुश्मन है यह करप्शन
अपनी आयोधा में रावण
है यह करप्शन
रेल की पटरियों पे दौड़े
है यह करप्शन
सच्चीायिओं के शीशे
तोड़े है यह करप्शन
जाने कहाँ से आया
किसने यह सेब लाया
खेतों में अपनी आखिर
यह ज़हर क्यों उगाया
कोई हकीम लायो कोई दवा पे लायो
हॉबीज़ को बांधो
इस बूथ को बांधो

इन् ब्रष्टाचारियों को
धन के पुजारियों को
पकड़ के इन् को जेल में डालो
देश को अपने इन् से बचा लो
देश को अपने इन् से बचा लो
देश को अपने इन् से बचा लो
गली गली चोर है गली गली चोर है
करप्शन करप्शन
करप्शन का शोर है.


Lyrics in English

Yeh sab mann ke bhi hain kaale
Yeh sab dhan ke bhi hain kaale
Kya baat hai bhaiyya kya baat hai
Mere ghar mein hi rehte
Hain mera ghar lootne wale
Dil ki baat keh di hai
Bhaiyya dil ki baat
Jo cheezein junglon ki hai
Unhe jungle mein rehna tha
Woh ab dilli mein rehte hain
Jihne chambal mein rehna tha
Jihne chambal mein rehna tha
Nikaalo nikaalo inn bayimaano ko

Gali gali chor hai gali gali chor hai
Corruption corruption
Corruption ka shor hai
Choron ka zor hai choron ka zor hai
Choron ka daur hai choron ka daur hai
Choron se bandhi hui choron ki dor hai
Choron se bandhi hui choron ki dor hai
Gali gali chor hai gali gali chor hai
Abhey minyan sacchi baat boli hai tune

Corruption ne likhi hai saari kahani
Corruption ne likhi hai saari kahani
Bina ghoos khori na bijli na paani
Bina ghoos khori na bijli na paani
Yahan saans lene ki keemat lagey gi
Gharon se nikalte hi rishwat lagey gi
Yahan aam logon ka hai yeh mukadder
Na kuch ghar ke baahar
Na kuch ghar ke andar
Na kuch ghar ke baahar
Na kuch ghar ke andar
Na nehru ka sapna salamat raha hai
Na gandhi ka charkha salamat raha hai
Aadalat kachehri yeh vardi yeh thaane
Chalate hain rishwat ke sab
Kaarkhaane sab kaarkhaane
Disha koi bhi ho looteron ka zor hai
Disha koi bhi ho looteron ka zor hai
Gali gali chor hai gali gali chor hai

Yeh topi yeh dhoti yeh kurte pajame
Yeh kurte pajame
Sab inke natak hai sab inke dramein
Sab inke dramein sab inke dramein
Koi inn se keh de garebaan mein jaanke
Dua hai ke khul jaaye dilli ki aankhein
Ladaayi abhi humko rakhni hai jaari
Hai azaadi ab tak adhoori
Hamari adhoori hamari
Siyaasi looteron ka kaisa yeh daur
Siyaasi looteron ka kaisa yeh daur
Gali gali chor hai gali gali chor hai
Gali gali chor hai gali gali chor hai

Burjan hai yeh corruption
Dushamn hai yeh corruption
Apni aayodha mein raavan
Hai yeh corruption
Rail ki patriyon pe daude
Hai yeh corruption
Sacchiayion ke sheeshe
Todhe hai yeh corruption
Jaane kahan se aaya
Kisne yeh seib laya
Kheton mein apni aakhir
Yeh zehar kyun ugaya
Koi haqeem laayo koi dawa pe laayo
Habeez ko baandho
Iss booth ko baandho

Inn brashtachaariyon ko
Dhan ke pujaariyon ko
Pakad ke inn ko jail mein daalo
Desh ko apne inn se bacha lo
Desh ko apne inn se bacha lo
Desh ko apne inn se bacha lo
Gali gali chor hai gali gali chor hai
Corruption corruption
Corruption ka shor hai.

Leave a Reply